Police

हैप्पी बर्थडे : बातें जो किरण बेदी के बारे में नहीं जानते ?

किरण बेदी

नई दिल्ली। 9 जून 1949 को जन्मी किरण पेशावरिया को आज लोग किरण बेदी के रूप में जानते हैं। वह भारत की पहली महिला IPS हैं। अपने जॉब के दौरान वह कई शहरों में अपनी सेवाएं दे चुकीं हैं। IPS से रिटायर होने के बावजूद वह हमेशा सामाजिक कार्यों में लगी रहती हैं। उम्र के इस पड़ाव पर भी अपने जोश और जज्बे से देश की सेवा के लिए सदैव तत्पर रहने के लिए वह युवाओं की प्रेरणा हैं। वह अपना 68वां जन्मदिन मना रही हैं। इस समय वह पुडुचेरी की उपराज्यपाल हैं। आइये जानते हैं उनके जीवन से जुडी कुछ रोचक बातें।





शादी के बाद बदला नाम

हम उन्हें किरण बेदी के नाम से जानते हैं, लेकिन उनका वास्तविक नाम किरण पेशावरिया है। उनके पिता का नाम प्रकाश पेशावरिया है और माता प्रेम पेशावरिया हैं। बृज बेदी के साथ शादी करने के बाद वह किरण बेदी हो गईं।

किरण बेदी ने अमृतसर के कॉन्वेंट स्कूल से पढ़ाई की है। इसके बाद अमृतसर विश्वविद्यालय से इंग्लिश ऑनर्स से बीए तथा पंजाब यूनिवर्सिटी से पॉलिटिकल साइंस में पोस्ट ग्रेजुएशन किया है। यही नहीं, वे IIT दिल्ली से ‘ड्रग अब्यूज एंड डोमेस्टिक वायलेंस’ सब्जेक्ट में PhD भी कर चुकी हैं। 1993 में PhD के दौरान उनकी उम्र 44 वर्ष थी।

kiran bedi IPS

पति के साथ किरण बेदी

राष्ट्रीय स्तर पर खेल चुकी हैं टेनिस

वह एक अच्छी टेनिस प्लेयर भी हैं और राष्ट्रीय तथा एशियन टेनिस चैम्पियन भी रह चुकी हैं। वह कुछ वर्ष तक भारत की सर्वश्रेष्ठ टेनिस खिलाड़ी रही थीं। यदि आपने गौर किया हो तो वह बालीवुड की एक्ट्रेस परिणीति चोपड़ा की तरह दिखाई पड़ती हैं।

उन्होंने अपना करियर पॉलिटिकल लेक्चरर के तौर पर शुरू किया था। वह 1972 में इंडियन पुलिस सर्विस में चुनी गईं थीं। अपने सर्विस करियर में वह ट्रैफिक कमिश्नर नई दिल्ली, डिप्टी इन्स्पेक्टर जनरल ऑफ पुलिस मिजोरम, डायरेक्टर जनरल नार्कोटिक कंट्रोल ब्यूरो जैसे कई पदों पर सेवाएं दे चुकी हैं।

kiran bedi IPS

खिलाड़ी और अफसर

 

उनके जीवन पर बन चुकी हैं फ़िल्में 

किरण बेदी के जीवन पर एक फिल्म भी बन चुकी है। ये एक तेलुगू फिल्म ‘कर्थव्यम’ है, जो किरण बेदी के चरित्र पर आधारित थी। 80 के दशक की साउथ की सबसे बड़ी हिट फिल्म थी। इस फिल्म में तमिल अदाकारा विजय शांति ने किरण बेदी का किरदार निभाया था।

इसके अलावा एक ऑस्ट्रेलियाई फिल्म निर्माता मगन डॉनमन ने भी किरण बेदी के जीवन पर गैर कथात्मक फिल्म का निर्माण किया था। इसने ‘सर्वश्रेष्ठ डॉक्युमेंट्री’ फिल्म केटेगिरी में 100,000 डॉलर का पुरस्कार प्राप्त किया था।

kiran bedi IPS

एक्ट्रेस विजय शान्ति के साथ किरण बेदी

नो पार्किंग से उठवा दी थी इंदिरा गाँधी की गाड़ी

उनके बारे में एक दिलचस्प बात ये भी है कि उन्होंने पार्किंग नियमों का उल्लंघन करने पर प्रधानमंत्री इंदिरा गाँधी की गाड़ी को क्रेन से उठवा लेने के आदेश दिए थे। यही कारण है कि उन्हें ‘क्रेन’ बेदी के नाम से भी जाना जाता है।

kiran bedi IPS

फाइल फोटो

 

लिख चुकीं हैं कई किताबें 

किरण बेदी की दो बायोग्राफी भी प्रकाशित हो चुकी हैं। इसके लावा वह ‘Government@net’ and has written three books – ‘What went wrong’, ‘As I see’ और ’ ‘It’s Always possible’ जैसी तकरीबन 10 किताबें लिख चुकी हैं। उनकी किताब ‘It’s Always possible’ एक ऐसी किताब जो दुनिया की सबसे बड़ी जेल तिहाड़ को बदलने के अनूठे प्रयोगों के बारे में है।

kiran bedi IPS

फाइल फोटो

उनके पति को बनाना पड़ता था खाना 

सामान्य विवाह होने के बावजूद जहां महिला कपड़े धोने, घर की देखरेख और खाना पकाना जैसे काम करती हैं, उनकी शादी इसके बिल्कुल विपरीत थी। फिर भी उनकी बॉन्डिंग बेहद मजबूत थी। कई बार जब किरण बेदी बाहर पोस्टेड होती थी, तो उनके पति एक विजिटिंग हसबेंड के रूप में उनसे मिलने जाते थे। यहां तक कि कई बार बृज को किरण बेदी के जूते पोलिश करना और उनके लिए खाना भी पकाना पड़ता था। पिछले वर्ष उनके पति की मृत्यु हो गई थी।

kiran bedi IPS

फाइल फोटो

किरण बेदी को भारत के पुलिस एवं विकास ब्यूरो के महानिदेशक के रूप में भी नियुक्त किया गया था। इससे पहले वह संयुक्त राष्ट्र शान्ति प्रबंधन विभाग में पुलिस सलाहकार के रूप में भी कार्य कर चुकी हैं। उनके उल्लेखनीय प्रदर्शन के लिए उन्हें UN मेडल तथा वर्ष 2005 में डॉक्टर ऑफ लॉ की मानद डिग्री भी दी जा चुकी है।

Comments

Most Popular

To Top