North India

आतंकी अब पुलिस बलों में नौकरी करने वाले स्थानीय लोगों को बना रहे हैं निशाना

भारतीय जवान
भारतीय जवान (फाइल फोटो )

श्रीनगर। घाटी में आतंकियों का दुस्साहस लगातार बढ़ रहा है। अब वे उन स्थानीय लोगों को निशाना बना रहे हैं जो पुलिस, सुरक्षा बलों या सेना में नौकरी करते हैं। आतंकियों का उनके लिए एक ही फरमान है कि नौकरी छोड़ दो। अगर नौकरी नहीं छोड़ोगे तो उनकी हत्या कर दी जाएगी। आतंकी सिर्फ धमकी ही नहीं दे रहे बल्कि आए दिन ऐसा कर भी रहे हैं। आतंकियों का दुस्साहस देखिए पुलिस औऱ सुरक्षा बल कर्मियों की वह घर में घुसकर हत्या कर रहे हैं।





बीते महीनों में ऐसी कई वारदातें सामने आई हैं जिसमें आतंकियों ने पुलिस बलों और सेना में नौकरी करने वालों को निशाना बनाया है।

बीते रविवार को आतंकियों ने पुलवामा जिले के नाइरा में नसीर अहमद की घर में घुसकर हत्या सिर्फ इसलिए कर दी कि वह केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल में नौकरी करते थे। नसीर छुट्टियों में घर आए हुए थे। इससे दो दिन पहले आतंकियों ने पुलवामा के त्राल इलाके से स्पेशल पुलिस अफसर मुदासिर अहमद लोन को अगवा कर लिया था। मुदासिर अहमद की मां का एक वीडियो सामने आया था जिसमें वह अपने बेटे को छोड़ने की गुहार लगा रही थी। आतंकियों ने मुदासिर अहमद को छोड़ तो दिया लेकिन इस शर्त पर कि वह पुलिस की नौकरी छोड़ देगा।

बता दें कि त्राल में हिजबुल कमांडर हमाद खान ने कुछ समय पहले एक पोस्टर जारी कर सभी पुलिस एसपीओ को नौकरी छोड़ने की धमकी दी। पोस्टर में यह भी धमकी दी गई थी कि जो नौकरी नहीं छोड़ेगा उसे गंभीर नतीजा भुगतना होगा।

बीते कुछ समय में आतंकी लगभग आधा दर्जन जवानों की हत्या कर चुके हैं। कुछ समय पहले आतंकियों ने कांस्टेबल सलीम शाह को उसके घर से अगवा कर लिया था और बाद में उसकी हत्या कर दी थी।

इसी तरह आतंकियों ने पुलिसकर्मी जावेद डार की भी अपहरण कर हत्या कर दी थी। जावेद मेडिकल शॉप से दवा लेने जा रहे थे। सेना के जवान इरफान अहमद का बंदूक की नोंक पर अपहरण करने के बाद आतंकियों ने उनकी भी हत्या कर दी थी।

लगभग दो माह पहले ईद की छुट्टी मनाने घर जा रहे सेना के जवान औरंगजेब का आतंकियों ने पुलवामा से अपहरण कर लिया था और बाद में हत्या कर दी।

आतंकियों ने जवानों को निशाना बनाने का सिलसिला पिछले वर्ष शुरू किया था। मई 2017 में लेफ्टिनेंट फैयाज को आतंकवादियों ने कुलगाम जिले में अगवा कर लिया था और बाद में उनकी हत्या कर दी। फैजाय को वर्ष 2016 में पोस्टिंग मिली थी और वह अपनी पहली छुट्टियों में आए हुए थे।

Comments

Most Popular

To Top