North India

ड्रग्स के खिलाफ संगरूर पुलिस ने चलाई साइकिल

ड्रग्स के खिलाफ साइकिल रैली

चंडीगढ़। एक तरफ जहां पंजाब सरकार नशीले पदार्थों की बिक्री और सेवन पर अंकुश लगाने एवं जागरूकता फैलाने के लिए प्रशासन स्तर पर कदम उठा रही है, वहीं मलेरकोटला की मुस्लिम महिलाओं ने भी ड्रग्स के खिलाफ जंग में शामिल होने का फैसला किया है। रविवार को मुस्लिम बहुल कस्बे में कुछ महिलाओं ने ड्रग्स के खतरे से निपटने में पुलिस की मदद करने का ऐलान किया।





खास बात यह कि इन महिलाओं को ड्रग्स के खिलाफ खड़ा करने में 1985 बैच के भारतीय पुलिस सेवा के अधिकारी पुलिस महानिदेशक (मानवाधिकार) मोहम्मद मुस्तफा की पत्नी और स्थानीय विधायक रजिया सुल्ताना की अहम भूमिका है। कैबिनेट मंत्री रजिया प्रदेश की एकमात्र मुस्लिम विधायक हैं। रजिया अपने सगे भाई आम आदमी पार्टी के मोहम्मद अशरफ को हटाकर विधायक बनी हैं।

संगरूर साइक्लिंग क्लब और जिला पुलिस द्वारा ड्रग्स के खिलाफ आयोजित साइकिल रैली के दौरान बड़ी संख्या में महिलाएं और लड़कियां शामिल हुईं। कार्यक्रम में महिलाओं ने पुलिस की मदद की करने की बात कही तो यही भी कहा कि उन्हें निचली कैटेगरी के अफसरों पर भरोसा नहीं है। इस पर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक मनदीप सिद्धू ने उन्हें अपना निजी नंबर दिया और कहा कि अगर उनके पास सटीक सूचना है तो मुझे बताएं। इस मौके पर रजिया सुल्तान ने महिलाओं का हौसला बढ़ाया और रैली में भाग लेने वालों को प्रशस्ति पत्र प्रदान किए।

Comments

Most Popular

To Top