North India

श्रीनगर की सबसे बड़ी मस्जिद के बाहर DSP को पीट-पीटकर कर मार डाला

जामिया मस्जिद

श्रीनगर। यहाँ की नौहट्टा स्थित सबसे बड़ी मस्जिद जामिया मस्जिद के बाहर गुरुवार रात को भड़की हिंसा में लोगों ने पुलिस उपाधीक्षक (डीएसपी) मोहम्मद अयूब पंडित की पीट-पीट कर हत्या कर दी। घटना के बाद पुराने शहर में स्थिति तनावपूर्ण हो गई है।





गुरुवार देर रात श्रीनगर की सबसे बड़ी जामिया मस्जिद में सैकड़ों लोग नमाज अदा करने में व्यस्त थे। उस समय एक भीड़ ने वहां सादा कपड़ों में तैनात अयूब पंडित पर भीड़ ने हमला कर दिया। इसी बीच उनका सुरक्षाकर्मी भीड़ को बेकाबू होते देख वहां से भाग गया और अधिकारियों को खबर की। इसके बाद सुरक्षाबलों तथा प्रदर्शनकारियों के बीच झड़पें शुरू हो गईं। जिन्हें तितर-बितर करने के लिए कार्रवाई की गई। रात में डीएसपी की पहचान नहीं हो पाई क्योंकि वह सादे कपड़ों में थे। पहचान के लिए शव को पुलिस नियंत्रण कक्ष ले जाया गया और कानूनी प्रक्रियाएं शुरू कर दी गईं।

पुलिस उपाधीक्षक (डीएसपी) मोहम्मद अयूब पंडित

पुलिस उपाधीक्षक (डीएसपी) मोहम्मद अयूब पंडित के शव को उनके घर ले जाया गया

फोटो खींचने पर हुई कहा-सुनी

दरअसल, अयूब हुर्रियत नेता मीरवाइज उमर फारूख और ऐतिहासिक मस्जिद पर ‘शब-ए-कद्र’ की रात होने वाली नमाज के दौरान मस्जिद की सुरक्षा में तैनात थे। मीरवाइज उमर फारुख भी मस्जिद के भीतर मौजूद थे, DSP अयूब सादा कपड़ों में मस्जिद की सुरक्षा में तैनात थे और मस्जिद से बाहर आ रहे लोगों की तस्वीरें ले रहे थे, इस दौरान कुछ युवकों ने उनसे बहस करना शुरू कर दिया, इस पर कुछ लोगों ने उन्हें बिना पहचाने हमला बोल दिया, अयूब ने अपने बचाव में गोलियां चलाई, जिसमें तीन लोग घायल हो गए, इसके बाद भीड़ ने उन पर पथराव करना शुरू कर दिया और तब तक नहीं छोड़ा, जब तक उनकी मौत नहीं हो गई। गुस्साई भीड़ ने पत्थर मार-मारकर हत्या करने से पहले उन्हें निर्वस्त्र कर दिया था।

  • तीनों आरोपी गिरफ्तार

इस घटना के बाद पुराने शहर में स्थिति तनावपूर्ण हो गई है और धारा 144 के तहत कर्फ्यू लगा दिया गया है। इलाके में स्थिति सामान्य करने के लिए अतिरिक्त पुलिस कर्मी भी मौके पर पहुंचे। प्रशासन ने शहर के सात थाना क्षेत्रों में एहतियाती तौर पर लोगों की आवाजाही पर प्रतिबंध लागू कर दिया है। जुमे की नमाज़ के बाद अलगावादियों के विरोध प्रदर्शन के ऐलान के मद्देनजर कानून एवं व्यवस्था की स्थिति कायम रखने के लिए ये प्रतिबंध लगाए गए हैं। इस मामले में दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है, जबकि तीसरे को भी पहचान कर गिरफ्तार कर लिया गया है। पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) एसपी वेद ने कहा है कि दोषियों पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

  • नहीं दी गई शुक्रवार की नमाज की अनुमति

इस इलाके में पाकिस्तानी नारों व आतंकवाद सम्बन्धी स्लोगन आदि लिखे जाने के बाद इलाके की सुरक्षा बढ़ा दी गई थी।प्रतिबंध के चलते शुक्रवार की नमाज की अनुमति नहीं दी गई है, जबकि मीरवाइज रमजान माह के अंतिम शुक्रवार को मस्जिद के भीतर संबोधन करने की योजना बना रहे थे। कश्मीर में गुरुवार की सुबह लश्कर-ए-तैयबा के तीन आतंकवादियों के एक मुठभेड़ में मारे जाने के बाद से तनाव है।

  • सीएम ने की घटना की निंदा

मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने भी घटना की निंदा की। उन्होंने कहा कि अगर पुलिस का सब्र जवाब दे गया तो फिर कहीं पुराना वक्त वापस न आ जाए जब रोड पर जिप्सी देखकर लोगों को भागना पड़ता था। वहीं, डीजीपी एसपी वेद ने कहा, ‘लोगों को समझना चाहिए कि अच्छा क्या है और बुरा क्या। जो उनकी हिफाजत के लिए वहां ड्यूटी कर रहा था, उसे ही पीटकर मार डाला।’ उधर, मध्य प्रदेश के एक बीजेपी नेता गजराज जाटव ने ऐलान किया है कि जो अलगाववादी मीरवाइज उमर फारूख की जुबान काटकर लाएगा, उसको 10 लाख का इनाम दिया जाएगा।

Comments

Most Popular

To Top