North India

कश्मीर में एडवाइजरी, पुलिसकर्मी कुछ महीने न जाएं अपने घर

जम्मू-कश्मीर

श्रीनगर: जम्मू कश्मीर पुलिस ने अपने कार्मिकों को एडवाइजरी जारी की है। इसके मुताबिक अगले कुछ महीने तक यदि वे अपने घर न जाएं तो बेहतर होगा। इसकी वजह हाल-फिलहाल में उनके घर और परिवारिक सदस्यों पर आतंकियों द्वारा किए गए हमले की घटनाएं हैं।





एडवाइजरी पुलिस मुख्यालय ने जारी की है। इसमें कहा गया है कि हाल में घाटी में पुलिसकर्मियों के जान-माल पर आतंकवादियों, राष्ट्रविरोधी और समाज विरोधी तत्वों ने हमला कर नुकसान पहुंचाया है।

एडवाइजरी के मुताबिक खासतौर से दक्षिण कश्मीर में हुई दुर्भाग्यपूर्ण घटनाओं के मद्देनजर पुलिस के जवान अपने जब घर जाएं तो अत्यधिक सतर्कता बरतें। चूंकि जवानों की सुरक्षा बेहद महत्वपूर्ण है, इसलिए वे अगले कुछ माह तक अपने घर जाने से बचें।

पुलिस अधिकारी के घर में घुसे आतंकी, लूटपाट की

यह सलाह विभिन्न इकाइयों के सभी प्रमुखों को इस आशय के साथ भेजी गई है कि वे अपने अधिकारियों और जवानों को इस खतरे से अवगत कराएं जिससे पुलिस कर्मियों की जान और माल को सुरक्षित किया जा सके।

गौरतलब है कि दक्षिण कश्मीर के कुलगाम और शोपियां में पुलिस कर्मियों के परिवारों पर हमले की दर्जनों घटनाओं के बाद यह एडवाइजरी जारी की गई, उपद्रवग्रस्त इलाकों में आपरेशन में लगे पुलिसजनों के परिवार वालों को धमकी दी जा रही है और उन्हें पुलिस की नौकरी छोड़ने के लिए कहा जा रहा है।

इस तरह की पहली घटना मार्च महीने में हुई थी जब आतंकवादी एक पुलिसकर्मी के घर में घुस गए थे। हिजबुल मुजाहिदीन के इन आतंकियों ने शोपियां में पुलिस उपाधीक्षक के परिवार वालों को धमकी दी थी। इस अभूतपूर्व घटना से पुलिस फोर्स को करारा झटका लगा। इसके बाद राज्य पुलिस के मुखिया एसपी वैद को आतंकी समूहों को चेतावनी जारी करनी पड़ी। वैद ने कहा कि यह लड़ाई आतंकियों और पुलिस के बीच है। इसमें परिवार को बीच मे नहीं लाया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि तब आतंकियों की प्रतिक्रिया क्या होगी जब पुलिस उनके परिवारों को डराना और धमकाना शुरू करेगी।

उन्होंने सवाल किया कि, ‘अगर पुलिस ऐसा करना शुरू करेगी तो उनके परिवारों का क्या होगा?’ हालांकि, आतंकियों पर इस चेतावनी का कोई असर नजर नहीं आ रहा है।

Comments

Most Popular

To Top