Police

बस एक बटन दबाने से पहुंच जाएगी ‘पिंक होयसाला’

बेंगलुरू: आपने सुना होगा कि उत्तर प्रदेश के बुंदेलखंड में महिलाओं का एक गुलाबी गैंग है जो महिलाओं को उत्पीड़न से बचाता है। यह सामाजिक संगठन है। इसका संचालन महिलाएं ही करती हैं। संभवत: इसी तर्ज पर बेंगलुरु महिलाओं की सुरक्षा के लिए गुलाबी रंग का ही इस्तेमाल करते हुए बेंगलुरू पुलिस ने पिंक होयसाला पीसीआर की शुरुआत की है। इनकी मदद पाने के लिए परेशानी में फंसी महिला या बच्चे अपने मोबाइल ऐप ‘सुरक्षा’ या फिर 100 नम्बर डायल कर ले सकते हैं। आज 51 पिंक होयसाला पीसीआर गाड़ियां राज्य के मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने बेंगलुरू पुलिस को समर्पित कीं।





बेंगलुरू पुलिस आयुक्त प्रवीण द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक, पिंक होयसाला पीसीआर की तैनाती उन जगहों पर ज्यादा रहेगी जहां गारमेंट फैक्ट्री काफी हैं और महिलाएं बड़ी तादाद में काम करती हैं और वे भी रात की शिफ्ट में। इसके अलावा बार और होटल्स हैं वहां भी इन पीसीआर की तैनाती की जाएगी। उन्होंने कहा कि महिलाओं की सुरक्षा के लिए पुलिस हमेशा तैयार रहती है। इसलिए पुलिस के बेड़े में ‘पिंक होयसाला’ को शामिल किया गया है।

51 पिंक होयसाला पीसीआर गाड़ियां राज्य के मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने बेंगलुरू पुलिस को समर्पित कीं।

…कॉल भी नहीं करना पड़ेगा

पुलिस आयुक्त प्रवीण ने बताया कि मोबाइल के सभी प्लेटफार्म पर बेंगलुरु सिटी पुलिस का विशेष ऐप मौजूद है जिसका नाम है ‘सुरक्षा’। इसे मोबाइल पर डाउनलोड करके इसे ज़रूरतमंद महिला या बच्चे अगर 10 सेकंड में 3 या इससे ज्यादा बार दबाएंगे तो एक संदेश इन गाड़ियों तक पहुंच जाएगा। फिर पिंक होयसाला पीसीआर में बैठी महिला पुलिसकर्मी फौरन जीपीएस से रास्ते का अनुसरण करते हुए ज़रूरतमंद तक पहुंच जाएंगी।

जिनके पास स्मार्टफोन न हों वे पुलिस कंट्रोल रूम को 100 नम्बर डायल कर सूचना देकर पिंक होयसाला की मदद ले सकते हैं। पिंक होयसाला का ड्राइवर पुरुष होगा जबकि इसमें मौजूद पुलिसकर्मी महिला होंगी।

Comments

Most Popular

To Top