North-Central India

ओपी सिंह ने यूपी के DGP का पदभार संभाला, कहा- भरोसा और सुरक्षा पहली प्राथमिकता

डीजीपी ओपी सिंह

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के नए डीजीपी के रूप में आईपीएस ओम प्रकाश सिंह ने पदभार संभाल लिया है। साफ-सुथरी छवि वाले 1983 बैच के आईपीएस अफसर के सामने तमाम चुनौतियां हैं और तमाम उम्मीदें हैं। ओपी सिंह इससे पहले केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआईएसएफ) के महानिदेशक थे। केंद्र से उन्हें कार्यमुक्त करने में काफी वक्त लगने की वजह से वह पदभार ग्रहण नहीं कर सके थे।





मंगलवार सुबह ही लखनऊ के अमौसी एयरपोर्ट पहुंचे डीजीपी ओपी सिंह का जोरदार स्वागत हुआ। यहां से वह सीधे हनुमान सेतु मंदिर गए, जहां उन्होंने पूजा-अर्चना की। दोपहर 12 बजे वह यहां से मुख्यमंत्री दफ्तर पहुंचे और सीएम योगी अदित्यनाथ से मिलने के बाद डीजीपी का पदभार ग्रहण किया। पिछले दिनों हुई ताबड़तोड़ डकैतियों के चलते पटरी से उतरी कानून-व्यवस्था को वापस ट्रैक पर लाना उनके लिए बड़ी चुनौती होगी।

ओपी सिंह पदभार ग्रहण करने के बाद मीडिया से बात करते हुए कहा कि जनता को पुलिस बल के जरिए सुरक्षा की भावना दे सकूं, यही पहली प्राथमिकता होगी। सर्विस डिलीवरी को और अधिक प्रभावशाली करेंगे, जिससे जनता पुलिस के कामों से संतुष्ट हो। राज्य में हुई आपराधिक घटनाओं पर लगाम लगाने के लिए उनकी विवेचना में गुणवत्ता लाने पर जोर दिया।

उत्तर प्रदेश में आईपीएस ओपी सिंह एसएसपी, डीआईजी, आईजी और एडीजी के तौर पर अपनी सेवाएं दे चुके हैं।

 

Comments

Most Popular

To Top