North India

DGP को अपनी ही पुलिस को देनी पड़ी ये चेतावनी

DGP punjab police

चंडीगढ़। पंजाब पुलिस को चेतावनी दी गई है, ‘आरोपी से दूर रहें’। राज्य पुलिस ने क्षेत्र में तैनात अधिकारियों को चेतावनी दी है कि वे अपराधियों के साथ मधुर संबंध विकसित न करें। ये आदेश क्षेत्र में हुई कुछ आपराधिक घटनाओं के बाद दिए गए हैं, जिनमें पुलिस अधिकारी भी शामिल पाए गए थे, जो आरोपी द्वारा दिए गए वाहन जैसी सुविधाओं का इस्तेमाल कर रहे थे। यही नहीं, कुछ जिलों में ये अधिकारी सार्वजनिक रूप से आपराधिक तत्वों के साथ घूमते भी नजर आए।





पुलिस थानों में पम्पलेट के जरिए पहुंचाए संदेश

पिछले महीने जारी एक पम्पलेट में, पंजाब के पुलिस महानिदेशक सुरेश अरोड़ा ने कहा, ‘यह देखने में आया है कि पुलिस अधिकारियों ने ना केवल अपराधियों व आरोपियों के साथ मधुर संबंध विकसित किए हैं, बल्कि ऐसे वाहनों या अन्य सुविधाओं का उपयोग करते पाए गए हैं जैसे कि आरोपियों द्वारा उपलब्ध कराया गया वाहन जिसे सरकारी कामों में भी इस्तेमाल किया जाता है। ये नोटिस जिलों के विभिन्न पुलिस स्टेशनों में सभी पुलिस अधिकारियों को भेजा गया।’

  • 31 मई को पुलिस थानों में बांटे गए पम्पलेट में उदाहरण देकर बताया गया के हाल ही में एक विशेष अधिकारी आरोपी की लक्जरी कार में उसके साथ देखा गया और ये कार उस इलाके में ही घूमती देखी गई। जब मामला पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट के संज्ञान में आया, तो एक दूसरा ही दृश्य सामने आया। इसके बाद विभागीय कार्रवाई शुरू हो गई और बाद में उसे बड़ा जुर्माना भरना पड़ा। ।

अपराधियों द्वारा दिए गिफ्ट इस्तेमाल करते पाए गए अधिकारी

SSP के रूप में तैनात एक वरिष्ठ आईपीएस अधिकारी ने पुष्टि की है कि इस तरह के आदेश जारी किए गए थे। ‘हाल ही में रिपोर्ट दी गई थी कि वहां ऐसा कुछ हो रहा है। कई जांच अधिकारियों को आरोपी के साथ घूमते देखा गया। उनमें से कुछ ने लक्जरी कारें और घड़ियां भी अपराधियों से स्वीकार की थी। अब इस आदेश से साफ हो गया है कि अगर कोई शिकायत आती है तो हम ऐसे किसी अधिकारी के खिलाफ सख्त कार्रवाई करेंगे।’

उन्होंने कहा कि हाल ही में एक जांच अधिकारी को बदल दिया गया था। जब एक मामले में आरोपी ने छुट्टी पर गए एक वरिष्ठ अधिकारी के परिवार के लिए कमरे बुक किए थे। डीजीपी के आदेश के अनुसार, ‘अभियुक्तों का कानून के मुताबिक इलाज किया जाना चाहिए।’

Comments

Most Popular

To Top