North India

थानों में रखे 1000-500 के पुराने नोट बने सिरदर्द

मालखाना

चंडीगढ़: देश के थानों में जमा पांच सौ और एक हजार के पुराने नोट पुलिस के लिए जी का जंजाल बने हुए हैं। ये वो धन है जो किसी न किसी आपराधिक मामले में जब्त किया गया और बतौर सबूत थानों के मालखाने में रखा है।





आठ नवंबर को पुराने नोट बंद किए जाने की घोषणा के बाद सभी थानों की पुलिस को ऐसे नोटों की फेहरिस्त बनाने को कहा गया था और इन्हें बैंक में जमा कराने की मियाद 30 दिसंबर तक थी। बावजूद इसके काफी ऐसे करेंसी नोट जमा होने से रह गए जिन्हें ‘केस प्रापर्टी’ के तहत रखा हुआ है।

इसी तरह की तीन करोड़ रुपए से ज्यादा की करेंसी चंडीगढ़ के थानों में जमा है। इनमें से कुछ ऐसी भी है जो भ्रष्टाचार कानून के तहत या घूस लेन देन के वक्त जब्त की गई। अब पुलिस ने अदालत से इन बंद नोटों को बैंक में जमा कराने की इजाजत मांगी है।

पुलिस सूत्रों के मुताबिक इसी कवायद के तहत सभी थाना प्रभारियों से कहा गया है कि वे अपने नाम से प्राइवेट बैंकों में खाता खुलवाएं ताकि करंसी नोट जमा किए जा सकें। घूस में पकड़े गए पुराने काफी नोटों को सबूत के तौर पर अदालती मुकदमे में पेश करने के लिए पुलिस अब उन नोटों की फोटो कॉपी करवा कर रख रही है।

Comments

Most Popular

To Top