North-Central India

पुलिसकर्मियों को दी जा रही साइबर क्राइम कंट्रोल की ट्रेनिंग

साइबर-क्राइम-कंट्रोल

गाजियाबाद। पुलिस लाइंस में इन दिनों कंप्यूटर ऑपरेटर पुलिसकर्मियों की एफसीएल (फोरेंसिक कम्प्यूटर लैब) की ट्रेनिंग चल रही है। इसमें कंप्यूटर ऑपरेटर को साइबर क्राइम को रोकने संबंधी ट्रेनिंग दी जा रही है। गाजियाबाद, हापुड़, बुलंदशहर, ग्रेटर नोएडा, बागपत, शामली और मेरठ के कंप्यूटर ऑपरेटर्स की इन दिनों हरसांव स्थित पुलिस लाइंस में पिछले 20 दिनों से एक माह की ट्रेनिंग चल रही है। सूत्रों के मुताबिक, इस ट्रेनिंग में ऑपरेटरों को फोरेंसिक साइंस की ट्रेनिंग की दी जा रही है।





ऑपरेटरों को पढ़ाया जा रहा है कि उन्हें कंप्यूटर वर्किंग से अलग किस तरह से पुलिस महकमे में काम करना है। उन्हें बताया गया कि जब वह किसी घटनास्थल पर होंगे और वहां फंदा लगे शव को देखेंगे तो कैसे पता लगाएंगे कि मृतक ने आत्महत्या की है या उसको किसी ने मारकर लटकाया है। इसके अलावा तमंचे, पिस्टल और बंदूक की गोलियों के बारे में उन्हें जानकारी दी गई है। साथ ही फ्रिंगर प्रिंट, फोटो और अन्य कई फोरेंसिक काम के बारे में उन्हें बताया गया है।

बेंगलुरू, हैदराबाद और दिल्ली से आएगी साइबर सेल की टीम

सूत्रों के अनुसार अगले हफ्ते गाजियाबाद पुलिस लाइंस में हैदराबाद, बेंगलुरू और दिल्ली से साइबर सेल एक्सपर्ट की एक टीम आएगी। जो अमेरिका, फ्रांस और जर्मनी जैसे देशों की तर्ज पर वेस्ट यूपी के पुलिसकर्मियों को साइबर सेल की ट्रेनिंग देंगे।

ATM से रुपये उड़ाने वाले ठगों को पकड़ेगी पुलिस

साइबर सेल के एक पुलिसकर्मी ने बताया कि अगले हफ्ते होने वाली ट्रेनिंग उनके लिए बहुत ही महत्वपूर्ण है। उन्होंने बताया कि इस ट्रेनिंग में उन्हें साइबर ठगों को पकड़ने के तरीके बताए जाएंगे। इससे फेसबुक, व्हाट्सएप और ट्विटर जैसी सोशल साइट द्वारा होने वाले क्राइम पर भी आसानी से अंकुश लग पाएगा।

Comments

Most Popular

To Top