North India

DSP के क़त्ल से हिलीं सरकार ने दी चेतावनी, संभल जाओ वरना…?

mahbooba mufti

श्रीनगर। गुरूवार रात्रि श्रीनगर की जामिया मस्जिद के बाहर सुरक्षा में लगे पुलिस उपाधीक्षक (DSP) मोहम्मद अयूब पंडित की भीड़ द्वारा पीट-पीट कर हत्या किए जाने के बाद जम्मू कश्मीर सरकार हिल गई है। जम्मू-कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने कहा कि डीएसपी अयूब पंडित की हत्या ‘एक विश्वास की हत्या है।’ शुक्रवार को शहीद डीएसपी को श्रद्धांजलि देने पहुंची महबूबा मुफ्ती ने पत्रकारों से बातचीत के दौरान यह बयान दिया।





पुलिस का सब्र टूटा तो लौटेगा पुराना वक्त : महबूबा मुफ़्ती

श्रद्धांजलि में मुख्यमंत्री समेत कई वरिष्ठ नेता, पुलिस अधिकारी तथा जवान मौजूद रहे। सभी ने नम आंखों से डीएसपी को श्रद्धांजलि दी। श्रद्धांजलि देने के बाद महबूबा मुफ़्ती ने कहा कि ‘मैं ये बताना चाहती हूं, जम्मू कश्मीर पुलिस भारत की सबसे बेहतर पुलिस में से एक है। ये बहुत ही बहादुर है, यहां पर जवानों को विपरीत परिस्थितियों में भी कानून व्यवस्था को बनाए रखने की चुनौती होती है, जिस दिन उनके सब्र का पैमाना टूटेगा, तो मुश्किल हो जाएगी।’

mahbooba mufti

DSP को श्रद्धांजलि देने पहुंची राज्य की सीएम महबूबा मुफ़्ती

पुलिस फोर्स में हमारे ही बच्चे हैं

उन्होंने कहा ये बहुत ही शर्मनाक वारदात है। जो लोग आपकी हिफाजत के लिए आते हैं और आप ये सुलूक उनके साथ करेंगे मगर कब तक ? मुझे डर है कि अगर पुलिस की सहने की शक्ति समाप्त हो गई, अगर पुलिस का सब्र जवाब दे गया तो खुदा न खास्ता फिर वो ही वक्त न लौट आए जब पुलिस की गाड़ी को देखकर लोगों को भागना पड़ता था। मेरी लोगों से गुजारिश है कि अभी भी वक्त है, लोगों को समझना चाहिए पुलिस फोर्स हमारी अपनी फोर्स है, ये हमारे अपने लोग हैं, हमारे अपने बच्चे हैं।

सिविल ड्रेस में सुरक्षा में तैनात थे डीएसपी अयूब

बताते चलें कि गुरुवार रात्रि साढ़े ग्यारह बजे नौहट्टा में जामिया मस्जिद के बाहर ड्यूटी पर तैनात डीएसपी की हिंसक भीड़ ने पीट-पीट कर हत्या कर दी थी। अयूब सिविल ड्रेस में हुर्रियत नेता मीर वाइज की सुरक्षा में तैनात थे और मस्जिद के बाहर अपनी ड्यूटी कर रहे थे।

ayub pandit's family

डीएसपी अयूब पंडित की हत्या के बाद शोक में डूबा परिवार

इसलिए होती हैं ऐसी घटना : मीरवाइज़

वहीं अयूब की हत्या के बाद अलगाववादी नेता मीरवाइज़ ने उनकी हत्या पर दुःख व्यक्त करते हुए कहा कि नौहट्टा में मस्जिद के पास ऐसी घटना का होना दुर्भाग्यपूर्ण है लेकिन हुर्रियत नेता ने ये भी कहा कि पुलिस का इस्तेमाल हमारे खिलाफ किया जाता है, जिसके कारण इस तरह की घटना होती हैं।

जामिया मस्जिद के इंचार्ज थे अयूब

जम्मू कश्मीर के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) एसपी वेद ने कहा कि लोगों को समझना चाहिए कि उन्होंने अच्छा किया या बुरा किया है जो उनकी हिफाजत के लिए वहां ड्यूटी कर रहा था, उसे पीट पीट कर मार डाला। दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है जबकि तीसरे को भी पहचान कर गिरफ्तार कर लिया गया है। उन पर कड़ी कानूनी कार्रवाई की जाएगी। डीएसपी मोहम्मद अयूब की मौत के बाद डीजीपी ने कहा कि इस बात की भी जांच होगी कि क्या अलगाववादी नेता मीरवाइज़ वहां पर मौजूद थे या नहीं। वेद ने कहा कि अयूब जामिया मस्जिद के इंचार्ज थे, और उस समय वहां पर अकेले थे।

Comments

Most Popular

To Top