North India

सरकारी रायफलें लेकर भागा कांस्टेबल हिजबुल आतंकी बना

जम्मू-कश्मीर पुलिस

श्रीनगर। जम्मू कश्मीर पुलिस का एक कांस्टेबल आतंकी संगठन हिजबुल मुजाहिदीन में शामिल हो गया है। दक्षिण कश्मीर के शोपियां जिले के नाजनीनपोरा का रहने वाला कांस्टेबल नवीद अहमद बडगाम जिले से शनिवार को चार सरकारी राइफलें लेकर फरार हो गया था। सूत्रों के अनुसार वह हिज्ब आतंकी संगठन का एक हिस्सा बन गया है। माना जा रहा है कि वह अचानक आतंकी नहीं बना है बल्कि उसका जिहादी संगठनों के साथ पुराना नाता रहा है। वह कई बार ड्यूटी से गायब रह चुका है। बताया जाता है कि वह राष्ट्रविरोधी गतिविधियों में लिप्त रहा है।





नवीद की गिरफ्तारी के लिए सोमवार को भी पुलिस ने शोपियां, पुलवामा और बडगाम जिले में कई जगह छापेमारी की और परिचितों से पूछताछ की लेकिन उसका कुछ पता नहीं लगा। सूत्रों के अनुसार नवीद का चचेरा भाई जावेद दक्षिण कश्मीर में हिजबुल मुजाहिदीन का सक्रिय आतंकी है। लगभग दो माह पूर्व 26 मार्च को पुलवामा जिले के पडगामपोरा में एसएसपी पुलवामा पर हमले की कोशिश में मारे गए दो आतंकियों में से एक फारुक अहमद हुरा भी नावीद के ख़ास दोस्तों में बताया जाता है।

इस बीच, हिजबुल मुजाहिदीन के प्रवक्ता बुरहानुद्दीन ने भी एक बयान जारी कर नवीद अहमद के हिज्ब में शामिल होने की पुष्टि की है। नवीद अहमद जिला बडगाम के चंदपोरा नसरुल्लापोरा स्थित भारतीय खाद्य निगम के गोदाम के लिए बनी चौकी में तैनात था। पिछले दिनों वह इसी चौकी से चार सरकारी एसएलआर राइफलें लेकर फरार हो गया था। सूत्रों के अनुसार उसे लेने के लिए उसके दो दोस्त एक कार से आये थे। बताते चलें कि पिछले एक साल से 50 के करीब युवाओं ने आतंकी संगठनों का हाथ थामा है।

Comments

Most Popular

To Top