Police

नक्सलियों के खिलाफ बन रही फिल्म में मुख्य किरदार निभा रहे हैं आईपीएस अफसर

आईपीएस अफसर कलाकारों के साथ
फोटो सौजन्य- गूगल

दंतेवाड़ा। छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा में अब नक्सलियों और उनकी कारगुजारियों के मद्देनजर एक अलग प्रयोग किया जा रहा है। नक्सलियों की हकीकत और कारस्तानियों को सिनेमा के माध्ययम से लोगों तक पहुंचाया जाएगा। इस शॉर्ट फिल्म की एक और खासियत यह होगी कि इसके लिए डॉक्टर से भारतीय पुलिस सेवा के अधिकारी बने एसपी अब अभिनेता बनने जा रहे हैं।





बता दें कि दंतेवाड़ा के दो अफसर इस फिल्म के जरिए नक्सलवाद की बुराइयां उजागर करेंगे। इस फिल्म में अभिनय करने के लिए कलाकारों के साथ खुद पुलिस के जवान भी जुटे हैं। लगभग 100 कलाकार जवान मिलकर इस फिल्म के जरिए नक्सलियों के आतंक और उनकी दमनकारी नीतियों से पर्दा उठाएंगे।

बस्तर के घने जंगली इलाकों में नक्सली कई वर्षों से अपना वर्चस्व कायम रखे हुए हैं। स्थानीय नागरिकों को बहकाकर और आतंक के खौफ से उन्हें अपने साथ बनाए रखने में सफलता पाई है। भीतरी इलाकों में विकास कार्य होने नहीं दे रहे हैं और सरकार व प्रशासन के खिलाफ ग्रामीणों को उकसाते रहते हैं। आदिवासियों को सामने कर आतंक फैलाने में भी नक्सली पीछे नहीं है। स्थानीय आदिवासी मारा जाता है और बड़े नक्सली अज्ञात जगहों पर ऐश भरी जिंदगी जी रहे होते हैं।

गौरतलब है कि इन्हीं बातों को सामने लाने के लिए एसपी डॉ. अभिषेक पल्लव और एएसपी सूरज सिंह परिहार के नेतृत्व में यह शॉर्ट फिल्म बनाई जा रही है। यह फिल्म दंतेवाड़ा के जंगल और चिन्हित जगहों पर शूट की जा रही है। गत बुधवार को स्थानीय बस स्टैंड स्थित एक मेडिसिन की दुकान पर फिल्म का एक शॉट फिल्माया गया और इससे पहले दंतेवाड़ा के बीहड़ में शूटिंग की गई।

सूत्रों के मुताबिक इस शार्ट फिल्म को हिंदी के अलावा स्थानीय भाषा गोंडी और हल्बी में भी डब किया जाएगा।

Comments

Most Popular

To Top