North India

पूर्वोत्तर के विकास पर IPS अफसर रोबिन हिबू की क्लास

नई दिल्ली: भारतीय पुलिस सेवा (IPS) के अधिकारी रोबिन हिबू को केन्द्र सरकार के कार्मिक व प्रशिक्षण विभाग के सचिवालय संस्थान में पूर्वोत्तर राज्यों के मामलों के विशेषज्ञ के तौर पर स्थायी व्याख्याता नियुक्त किया गया है। श्री हिबू 1993 बैच के आईपीएस अधिकारी हैं और वर्तमान में दिल्ली पुलिस में संयुक्त आयुक्त (प्रशिक्षण) हैं।





अरुणाचल प्रदेश से ताल्लुक रखने वाले श्री हिबू दिल्ली में पूर्वोत्तर राज्यों से जुड़े लोगों की मदद के लिए संस्था भी चलाते हैं। पूर्वोत्तर राज्यों के मामलों के लिए वह दिल्ली पुलिस के नोडल अधिकारी भी हैं।

सचिवालय संस्थान में एक कार्यक्रम में श्री हिबू ने केन्द्र सरकार के विभिन्न मंत्रालयों के अपर सचिवों और उप सचिवों के साथ पूर्वोत्तर के आठ राज्यों से जुड़े अलग-अलग मसलों पर मंत्रणा की। इन सचिवों को उन्होंने बताया कि किन खामियों और सिस्टम में गड़बड़ियों की वजह से विकास जमीनी स्तर पर नहीं पहुंच पा रहा। ऐसे हालात की भी वहां चर्चा हुई जिसकी वजह से इन राज्यों में पिछड़ापन बढ़ता है और दूसरी तरफ एक वर्ग ऐसा है जो पनपता जा रहा है। इस तबके का प्रभाव और एकाधिकार बढ़ने से इन राज्यों के आम नागरिक खुद को मुख्यधारा से अलग-थलग महसूस करते हैं। श्री हिबू ने बताया कि इन राज्यों की मूलभूत जरूरतें सड़कें व संचार तंत्र, शिक्षा, स्वास्थ्य सेवा हैं और जरूरत इस बात की है कि इनसे जुड़ी मॉनीटरिंग की जाए।

श्री हिबू ने बैठक में मौजूद अधिकारियों से जब पूर्वोत्तर के राज्यों की संस्कृति और महत्वपूर्ण स्थलों की चर्चा की तो अधिकारियों ने इसमें बेहद दिलचस्पी दिखाई। श्री हिबू ने अधिकारियों को इन राज्यों में आने का न्योता दिया तो एकसुर में अधिकारियों ने वादा किया कि वे एलटीसी का लाभ उठाते हुए पूर्वोत्तर राज्यों की सैर करेंगे। श्री हिबू ने कहा कि ये वो अधिकारी हैं जिन्हें केन्द्र के विकास कार्यक्रमों की रीढ़ कहा जा सकता है।

श्री हिबू ने बताया कि सरकार ने उन्हें समय समय पर इस तरह की बैठकों में शिरकत करने के लिए न्योता दिया है ताकि पूर्वोत्तर के आठों राज्यों की सही और जमीनी जानकारियां जुटाने में अधिकारियों को मदद मिले।

Comments

Most Popular

To Top