North East

खराब परफॉर्मेंस की वजह से टर्मिनेट हुए IPS अधिकारी

गृह मंत्रालय

नई दिल्ली। आईपीएस के कामकाज को लेकर सख्त हुई केंद्र सरकरार, गृह मंत्रालय ने मिजोरम में तैनात आईपीएस ऑफिसर लिंगला विजय प्रसाद को सेवा से हटा दिया है। एक अधिकारी के मुताबिक सरकार ने उनकी सेवाओं को असंतोषजनक पाया था।





लिंगला 1997 बैच के आईपीएस अधिकारी हैं और अरुणाचल प्रदेश-गोवा-मिजोरम और केंद्र शासित प्रदेश काडर के ऑफिसर हैं। डीआईजी रैंक के इस ऑफिसर की सेवाओं के 15 साल पूरे होने के बाद परफॉर्मेंस की हुई, जिसमें उन्हें अनफिट पाया गया। नियमों के मुताबिक ऑल इंडिया सर्विस ऑफिसर के प्रदर्शन की समीक्षा दो बार होती है। पहला उनकी सेवा के 15 साल पूरे होने पर और दूसरा 25 साल पूरा होने पर।

गृह मंत्रालय ने बुधवार को आईपीएस विजय लिंगला प्रसाद को हटाने का आदेश जारी किया। इसे कैबिनेट की नियुक्ति कमिटी ने भी मंजूरी दी है। इस कमिटी की अगुवाई प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी करते हैं।

सर्विस रुल्स के मद्देनजर केंद्र सरकार इस तरह के केसों में एक अधिकारी को सार्वजनक हित में रिटायर करने को लेकर राज्य सरकार से सलाह मशविरा कर सकती है। हालांकि इसके लिए लिखित में 3 महीने पहले नोटिस दिया जाता है या कई महीनों की सैलरी और भत्ते भी दिए जाते हैं।

Comments

Most Popular

To Top