North-Central India

IPS अधिकारी अपर्णा अब डेनाली फतह के लिए निकलीं

अपर्णा कुमार

लखनऊ। आईपीएस (IPS) अधिकारी अपर्णा कुमार उत्तरी अमेरिका के सर्वोच्च पर्वत शिखर अलास्का रेंज में माउण्ट डेनाली पर तिरंगा फहराने जा रही हैं। अपर्णा कुमार अगर माउण्ट डेनाली (6190 मीटर) में सफलता हासिल कर लेती हैं, तो ऐसा करने वाली वह पहली भारतीय अधिकारी होंगी। इसके साथ ही वह दुनिया के सात महाद्वीपों की सर्वोच्च शिखर को पार करने वाली पहली भारतीय भी बन जायेंगी।





माउण्ट डेनाली

यही है माउण्ट डेनाली (6190 मीटर) पर्वत

पर्वतारोहण पर जाने से पहले आज उन्होंने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात की। मुख्यमंत्री ने उन्हें लक्ष्य प्राप्ति के लिए शुभकामनाएं दीं और सुरक्षित वापसी की कामना की। उन्होंने कहा कि वह लाखों भारतीय महिलाओं के लिए प्रेरणा हैं। उन्होंने अपर्णा को भारत, उत्तर प्रदेश पुलिस और उत्तर प्रदेश सशस्त्र सेना का झण्डा प्रदान किया। इस दौरान स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह, प्रमुख सचिव गृह देबाशीष पण्डा, पुलिस महानिदेशक सुलखान सिंह और प्रमुख सचिव अवनीश अवस्थी भी मौजूद रहे।

आईपीएस (IPS) अधिकारी अपर्णा कुमार

अपर्णा कुमार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भारत, उत्तर प्रदेश पुलिस और उत्तर प्रदेश सशस्त्र सेना का झण्डा प्रदान किया।

यूपी पुलिस की 2002 बैच की आईपीएस अधिकारी अपर्णा 21 मई, 2016 को दुनिया की सबसे ऊंची चोटी माउण्ट एवरेस्ट पर तिरंगा लहरा कर इतिहास रच चुकी हैं। ऐसा करने वाली वह देश की पहली महिला आईपीएस अधिकारी हैं। एवरेस्ट की ऊंचाई 29 हजार 30 फीट है।

साहसिक सफलता की अपर्णा की यात्रा

अपर्णा कुमार

अपर्णा कुमार 26 जनवरी, 2016 को अंटार्कटिका की सबसे ऊंची चोटी माउण्ट विन्सन मासिफ (17 हजार फीट) पर तिरंगा लहरा चुकी हैं। 4 अगस्त, 2015 को यूरोप महाद्वीप की सबसे ऊंची चोटी माउण्ट एल्ब्रस (माइनस 15 डिग्री सेल्सियस तापमान वाले) पर तिरंगा लहराने वाली पहली भारतीय महिला अधिकारी भी हैं।

अपर्णा 30 अगस्त, 2014 को अफ्रीका की माउंट किलमंजारो को फतह कर चुकी हैं। 7 नवम्बर 2014 को आस्ट्रेलिया की सबसे ऊंची चोटी कारस्टेंज पिरामिड (16023 फिट) चोटी पर भी वह फतह हासिल कर चुकी हैं। इसके अलावा अपर्णा 15 जनवरी 2015 को साउथ अमेरिका की माउण्ट एकान्कागुआ पर भी तिरंगा लहरा चुकी हैं। मार्च 2015 में उन्हें तत्कालीन मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने रानी लक्ष्मीबाई वीरता पुरस्कार से सम्मानित किया था।

Comments

Most Popular

To Top