North-Central India

आतंकवाद से जुड़ी खुफिया सूचनाओं का आदान-प्रदान

नई दिल्ली: आतंकवाद की घटनाओं को रोकने के लिए कई राज्यों के पुलिस अधिकारियों की आज दिल्ली में बैठक हुई। इस अंतरराज्यीय समन्वय बैठक में आतंकवाद से जुड़ी गुप्त सूचनाओं का आदान प्रदान हुआ। दिल्ली पुलिस के आयुक्त की अध्यक्षता में आयोजित इस बैठक में हरियाणा, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, मध्य प्रदेश, बिहार, जम्मू-कश्मीर, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश, चंडीगढ़ के पुलिस अधिकारियों ने हिस्सा लिया।





बैठक में शामिल दूसरे राज्यों के पुलिस अधिकारियों ने कानून और व्यवस्था पर अंतरराज्यीय प्रभाव होने की जानकारियां दी गई। बैठक में दिल्ली और दूसरे पड़ोसी राज्यों के नागरिकों को और अधिक सुरक्षित वातावरण प्रदान करने, एनसीआर क्षेत्र में पुलिस के तालमेल में वृद्धि करने से जुड़ा प्रस्ताव भी पारित किया गया।

बैठक में मुख्य मुद्दा दिल्ली नगर निगम चुनाव में किसी प्रकार का खलल न हो इसके लिए पुलिस आयुक्त ने दूसरे राज्यों की पुलिस से आतंक अथवा दूसरी खुफिया जानकारियां साझा करने की बात कही।

दिल्ली पुलिस मुख्यालय

दिल्ली नगर निगम चुनाव को देखते हुए दूसरे राज्यों से होने वाली शराब तस्करी पर भी चर्चा की गई और इस तरह की गतिविधियां रोकने की बात कही गई। शराब के ठेके पर हाल में सुप्रीम कोर्ट के उस आदेश पर भी चर्चा की गई जिसमें कहा गया था कि राष्ट्रीय मार्ग पर 500 मीटर की दूसरी पर कोई शराब का ठेका न हो। बैठक में ऐसे शराब के ठेकों को भी जल्द ही बंद करने/कराने पर चर्चा हुई।

प्रदूषण से निबटने के लिए अब दिल्ली पुलिस के सभी जवानों को मिलेंगे मास्क

बैठक में दूसरे राज्यों की पुलिस से आपसी तालमेल पर चर्चा की गई। पुलिस आयुक्त अमूल्य पटनायक ने जाट आंदोलन के दौरान दिल्ली में किसी प्रकार की अप्रिय घटना न होने के लिए पड़ोसी राज्य की पुलिस की सराहना की। उन्होंने कहा कि जाट आंदोलन के दौरान राजधानी में कोई दिक्कत न हो इसके लिए पड़ोसी राज्यों ने दिल्ली पुलिस को जानकारियां दी थी। उन्हीं जानकारियों के आधार पर दिल्ली पुलिस ने रणनीति बनाई और दिल्ली में किसी प्रकार की कोई अप्रिय घटना नहीं हुई और सब कुछ शांति से निबट गया।

पुलिस आयुक्त ने आतंकवाद विरोधी गतिविधियों को मजबूती से रोकने के लिए किरायेदार के सत्यापन, गेस्ट हाउस चेकिंग, साइबर कैफे मालिकों को सतर्कता बरतने, सेकेंड हैंड कार को बेचने वाले अथवा खरीदने वाले लोगों को सतर्कता बरतने, संवेदनशील जगहों पर पुलिस की उपस्थिति पर भी बल दिया।

बैठक में शामिल हुए अन्य राज्य के पुलिस अधिकारियों ने अंतरराज्यीय अपराधियों के किए गए अपराधों और उनके संबंधित क्षेत्रों में संचालित ऑटो लिफ्टर्स के संगठित गिरोहों की जांच करने के लिए खुफिया जानकारी भी दिल्ली पुलिस से साझा की। इसके अलावा बैठक में मानव तस्करी, नकली नोट, अवैध हथियारों की तस्करी, राज्यों की सीमा पर संयुक्त चेकिंग समेत कई मुद्दों पर चर्चा हुई।

Comments

Most Popular

To Top