North-Central India

शामली मुठभेड़ में घायल यूपी पुलिस के कॉन्स्टेबल अंकित तोमर शहीद

नोएडा। मंगलवार देर रात शामली में पुलिस और इनामी बदमाश के बीच हुई मुठभेड़ में घायल  हुए सिपाही अंकित तोमर बुधवार को इलाज के दौरान शहीद हो गए। मुठभेड़ के दौरान अंकित के कान में गोली लगी थी। उन्हें नोएडा के फोर्टिस अस्पताल में दाखिल कराया गया था।





शामली एनकाउंटर में घायल सिपाही अंकित तोमर की हालत बेहद गंभीर थी। डॉक्टरों ने काफी कोशिश की लेकिन वे उन्हें नहीं बचा सके। गुरुवार को अंकित का अंतिम संस्कार उनके पैतृक गांव वाजिदपुर में किया जाएगा। डॉक्टरों के मुताबिक, गोली कान से अंदर घुसी और बाहर नहीं निकल पाई।

सीएम ने जताया शोक

यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ट्वीट कर शोक प्रकट किया है। उन्होंने अपने ट्विटर पर शहीद सिपाही अंकित तोमर की वीरता और साहस को नमन करते हुए उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की।

बागपत के रहने वाले थे अंकित

कॉन्स्टेबल अंकित मूल रूप से पश्चिमी उत्तर प्रदेश के बागपत जिले के निवासी थे और वर्तमान में शामली के कैराना में तैनात थे। मंगलवार देर रात मुखबिर की सूचना पर कार्रवाई करते हुए पुलिस ने एक लाख रुपए के इनामी बदमाश साबिर जंधेड़ी को मार गिराया था। अंकित इसी एनकाउंटर टीम के सदस्य थे।  मुठभेड़ के दौरान बदमाशों की फायरिंग में अंकित गंभीर रूप से घायल हुए थे, जिसके बाद नोएडा के फोर्टिस अस्पताल में उनका इलाज किया जा रहा था।

बाराबंकी से फरार हुआ था बदमाश

कैराना का जंधेड़ी निवासी साबिर मई 2017 में बाराबंकी में पुलिस कस्टडी से उस वक्त फरार हो गया था, जब उसे सिद्धार्थनगर जेल से हरियाणा कोर्ट में पेशी पर ले जाया जा रहा था। उसके बाद से वह लगातार वारदात कर रहा था। साबिर पर रंगदारी, लूट, हत्या, डकैती के दर्जनों संगीन मुकदमे दर्ज थे।

Comments

Most Popular

To Top