North India

एवरेस्ट फतह करने वाली पहली भारतीय बनी यह SI

अनीता कुंडू

चंडीगढ़। अंशू जमशेंपा ने जहां पांचवीं बार एवरेस्ट फतह की है वहीं अनीता कुंडू चीन की तरफ से माउंट एवरेस्ट फतह करने वाली पहली भारतीय महिला बन गर्इं हैं। हिसार के फरीदपुर की रहने वाली अनीता हरियाणा पुलिस में सब इंस्पेक्टर हैं। उन्होंने 11 अप्रैल को चीन के रास्ते दुनिया की सबसे ऊंची चोटी एवरेस्ट को फतह करने का सफर शुरू किया था।





24 घंटे में तय की 700 मीटर ऊंचाई

अनीता के मुताबिक 20 मई से 21 मई का दिन काफी मुश्किल था, क्योंकि इस दल को लगातार आगे बढ़ना था जिसमें 24 घंटे के सफर में 700 फीट की ऊंचाई तय की और एवरेस्ट फतह किया। जब ये सफर शुरू किया गया था तो दल में आठ पर्वतारोही थे, लेकिन आखिरी पड़ाव तक केवल तीन ही रह गए, इनमें से आॅस्ट्रेलिया के एक पर्वतारोही की मौत हो गई तथा दूसरे ने 22 हजार की ऊंचाई पर जाकर वापसी कर ली।

अनीता कुंडू

अनीता कुंडू अपनी मां के साथ (फाइल फोटो)

नेपाल की तरफ से भी फतह कर चुकी हैं एवरेस्ट

29 वर्षीय अनीता ने 11 अप्रैल को चढ़ाई शुरू की थी लेकिन 26 अप्रैल को उनका बाहरी दुनिया से संपर्क टूट गया। इसके कारण उनका परिवार भी काफी चिंतित हो गया था। इसके बाद मई माह में सूचना दी गई कि वह अपने लक्ष्य से केवल 1,100 फीट दूर हैं। यह उनका दूसरा प्रयास था। इससे पहले अनीता ने दो साल पहले चीन की तरफ से एवरेस्ट पर चढ़ाई शुरू की थी लेकिन खराब मौसम के कारण उन्हें बीच यात्रा से ही लौटना पड़ा था। इससे पहले वह नेपाल की तरफ से एवरेस्ट फतह करने वाली भारतीय महिला बनी थीं।

दूध बेचकर मां ने पाला परिवार

आपको बता दें कि अनीता एक बेहद साधारण परिवार से हैं और पिता की मृत्यु के बाद उनकी मां राजपति देवी ने भैंस पाली और उन्होंने दूध बेचकर परिवार को पाला और उन्हें पढ़ा लिखा कर काबिल बनाया है। अनीता सब-इंसपेक्टर होने के साथ ही एक सोशल वर्कर भी हैं।

Comments

Most Popular

To Top