North India

जवानों, उनके बच्चों के लिए हरियाणा पुलिस के बड़े फैसले

हरियाणा पुलिस पब्लिक स्कूल

चंडीगढ़। हरियाणा पुलिस ने गुरुग्राम के भोंडसी में चल रहे पुलिस स्कूलों का संचालन श्री राम फाउंडेशन से लेकर डीएवी प्रबंधन को देने का फैसला लिया है। यह भी फैसला लिया गया कि चार और स्कूल शुरू किए जाएंगे। इसके बाद पुलिस पब्लिक स्कूलों की संख्या राज्य में 21 हो जाएगी।





अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (मानवाधिकार और वाद) ओपी सिंह ने बताया कि डीजीपी केपी सिंह की अध्यक्षता में रोहतक के सुनरिया में आयोजित ‘बी’ लेवल वेलफेयर मीटिंग में जवानों की जिन्दगी को आसान बनाने के लिए कुछ अहम निर्णय लिए गए।

हरियाणा पुलिस पब्लिक स्कूल

रोहतक स्थित हरियाणा पुलिस पब्लिक स्कूल, जहां अफसरों की बैठक हुई (फाइल फोटो)

एडीजीपी ने कहा कि पूरे राज्य में जवानों के इस्तेमाल के लिए आरओ, वॉटर कूलर, एलईडी, एयर कूलर और गद्दे जैसी सुविधाओं की खरीद के लिए 3 करोड़ रुपये का आवंटन किया गया। एडीजीपी ने कहा कि नए स्कूलों के लिए उपकरणों और बसों की खरीद के लिए 3 करोड़ रुपये आवंटित किए गए।

फैसला लिया गया कि भोंडसी के पुलिस पब्लिक स्कूल चलाने के लिए श्री राम फाउंडेशन को डीएवी मैनेजमेंट से बदल दिया जाए क्योंकि श्री राम फाउंडेशन की फीस बहुत ज्यादा थी। अन्य पुलिस स्कूल पहले से ही डीएवी संगठन द्वारा चलाए जा रहे थे।

इसके अलावा 40 साल से अधिक उम्र वाले पुलिसकर्मियों की चिकित्सा जांच अनिवार्य कर दी गई है ताकि प्रारंभिक चरण में ही उनको बीमारियों से निजात दिलाई जा सके। एडीजीपी ने बताया कि यह व्यय हरियाणा पुलिस कल्याण और स्पोर्ट्स फंड से किया जाएगा, जो एक निजी तौर पर प्रबंधित पंजीकृत फंड है, जिसमें पुलिसकर्मियों, अधिकारियों और चतुर्थ श्रेणी के सभी कर्मचारी एक सहमति-दर पर योगदान देते हैं और कई तरह के लाभ उठाते हैं। इसमें सरकार पुलिसकर्मियों द्वारा दिए गए योगदान के बराबर राशि अनुदान के रूप में देती है।

साभार : द ट्रिब्यून

Comments

Most Popular

To Top