North India

हरियाणा सरकार आठवीं से ग्यारहवीं कक्षा के बच्चों को देगी पुलिस ट्रेनिंग

बच्चों को ट्रेनिंग देती पुलिस
बच्चों को ट्रेनिंग देती पुलिस (सौजन्य- जागरण)

चंडीगढ़। इजराइल में प्रत्येक युवक के लिए आर्मी की ट्रेनिंग अनिवार्य है पर अब केरल की तर्ज पर हरियाणा सरकार आठवीं से ग्यारहवीं कक्षा के बच्चों को पुलिस की ट्रेनिंग देने जा रही है। नेशनल कैडेट कोर (NCC) की तरह अब स्कूलों में छात्र पुलिस कैडेट (SPC) की शुरुआत होगी। इसका आरंभ 11 जुलाई से होगा और केन्द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह गुरुग्राम एक साथ छह हजार बच्चों को SPC कोर में शामिल करते हुए उन्हें शपथ दिलाएंगे।





स्कूली बच्चों की दिनचर्या में यह बड़ा बदलाव इसलिए किया जा रहा है ताकि वे कानून, नागरिक भावना, लोकतांत्रिक व्यवस्था का सम्मान और समाज के प्रति अपनी जिम्मेदारियों का निर्वाह भली-भांति कर सकें।

सरकारी प्रवक्ता के मुताबिक NCC की तर्ज पर SPC शुरू करने का मकसद छात्रों को पुलिस व्यवस्था से नजदीक से परिचय कराना तथा समय आने पर इस भूमिका को समाज हित में निभाना है। आठवीं से ग्यारहवीं कक्षा के छात्रों को इस दौरान पुलिस, गृह, शिक्षा, परिवहन, वन विभाग तथा स्थानीय प्रशासन के साथ मिलकर विभागीय कार्य प्रणाली और अलग-अलग स्थितियों में कदम उठाने जैसा प्रशिक्षण दिया जाएगा।

गौरतलब है कि वर्ष 2006 में केरल की कोच्चि सिटी पुलिस द्वारा तीस स्कूलों के चार सौ छात्रों के साथ एक अभियान शुरू किया गया था। इसमें पुलिस अफसरों ने बच्चों को पुलिसिंग व्यवस्था से परिचित करवाया था। इसके बाद उनके रुझान और इच्छा को देखते हुए जनवरी 2010 में कोझीकोड में भीड़ प्रबंधन पर उनकी क्षमता का उपयोग किया था।

रक्षक न्यूज की राय

हरियाणा सरकार के इस प्रोजेक्ट से छात्रों को पुलिसिंग व्यवस्था की जानकारी मिलेगी और यह जानकारी इस किशोर पीढ़ी को सामाजिक व्यवस्था के प्रति अधिक जागरूक तथा जवाबदेह बनाने में मददगार साबित होगी। समाज के मौजूदा हालात को देखते हुए ऐसी पहल और परियोजनाएं सभी राज्यों की पुलिस को भी शुरू करनी चाहिए।

Comments

Most Popular

To Top