Health

देश का पहला राज्य, जहां के थानों में खाई गई ये कसम!

पंजाब पुलिस

चंडीगढ़। आमतौर पर पुलिसकर्मी ड्यूटी ज्वाइन करते वक्त क़ानून की रक्षा की शपथ लेते हैं लेकिन आपने शायद ही कभी सुना हो कि किसी थाने में नशा न करने और न करने देने की शपथ ली गई हो, वह भी लिखित में। लेकिन यह ऐतिहासिक पहल हुई है उस पंजाब में जो हाल के वर्षों में ड्रग्स के मामले में सुर्खियों में रहा है। संभवत: पंजाब देश का ऐसा राज्य बन गया है जहाँ के पुलिस थानों में नशे के खिलाफ कसम खाई गई।





गिद्दड़बाहा थाने के पुलिस कर्मियों ने स्वघोषित फ़ार्म भरा

मुक्तसर जिले के गिद्दड़बाहा थाने के पुलिस कर्मियों ने न सिर्फ प्रण किया बल्कि स्वघोषित फ़ार्म भरा कि वे न कोई मादक पदार्थ लेंगे और न ही किसी इसे बेचने या इस्तेमाल करने देंगे। यह पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल का गृहक्षेत्र है, जहां के सभी थानेदार दो दिन पूर्व अमरिंदर सरकार ने एक झटके में बदल दिए थे। अपने घोषणापत्र में पुलिस वालों ने यह भी घोषित किया है कि यदि कोई मादक पदार्थ बेचते हुए या प्रयोग करते हुए पाया गया तो उसे वरिष्ठ अधिकारियों के समक्ष पेश किया जाएगा।

गिद्दड़बाहा थाने के SHO सब इन्स्पेक्टर पेरिविन्केल ग्रेवाल ने कहा कि, दरअसल यह पहल स्टाफ को नैतिक रूप से बाँधने की एक पहल है ताकि वे नशीले पदार्थ की सप्लाई करने वालों को पकड़ सकें और नशा करने वालों की पहचान कर सकें।

दूसरी तरफ इसी जिले के लम्बी (बादल यहीं से विधायक हैं) थाना क्षेत्र में भी SHO बूटा सिंह ने भी अपने सभी अधीनस्थों को हाथ उठवाकर ड्रग माफियाओं के खिलाफ पूरी ताकत से जुटाने की शपथ दिलवाई। इस कवायद के बारे में पूछे जाने पर बूटा सिंह ने कहा कि मुख्यालय से ऐसा करने का कोई निर्देश नहीं आया है लेकिन इस (ड्रग्स) खतरे को ख़त्म करना चाहते हैं।

Comments

Most Popular

To Top