Police

दिल्ली पुलिस का यूजर फ्रेंडली ‘हिम्मत एप’ रीलॉन्च

हिम्मत एप रीलॉन्च

नई दिल्ली। महिला सुरक्षा के मद्देनजर दिल्ली पुलिस ने हिम्मत एप को दोबारा लॉन्च किया है। इस बार एप की कुछ त्रुटियों को दूर करते हुए इसे ज्यादा यूजर फ्रेंडली बनाया गया है। इसमें तमाम तरह की सुविधाएं मिलेंगी। इस नए अवतार का नाम ‘हिम्मत प्लस’ दिया गया है। इसकी असल खूबियां ये हैं कि यह एप अंग्रेजी और हिंदी में है। उसमें टैक्सी, ऑटो रिक्शा और ई-रिक्शा के ड्राइवरों की डिटेल के साथ ही वैरिफिकेशन के लिए उनके QR कोड के स्कैनिंग की भी सुविधा है।





इस एप में दिल्ली एयरपोर्ट और 05 मेट्रो स्टेशनों जैसे आनंद विहार, विश्वविद्यालय, मालवीय नगर, साकेत और नेहरू प्लेस के बाहर मौजूद रहने वाले करीब तीन हजार टैक्सी, ऑटो और ई-रिक्शा ड्राइवर्स की डिटेल फीड की गई हैं। इस एप को गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड किया जा सकता है। नेशनल मीडिया सेंटर में मंगलवार को इस एप के अपडेटेड वर्जन का उद्घाटन दिल्ली के एलजी अनिल बैजल ने किया। इस मौके पर दिल्ली के पुलिस कमिश्नर अमूल्य पटनायक और स्पेशल सीपी संजय बनियाल मौजूद रहे।

इस मौके पर एलजी ने कहा कि दिल्ली पुलिस का ‘हिम्मत प्लस’ एप महिलाओं की सेफ्टी करने में काफी मददगार साबित होगा। उन्होंने कहा कि इस एप के जरिए टैक्सी ड्राइवर की लाइव लोकेशन दिल्ली पुलिस को पल-पल मिलती रहेगी। इस एप को कोआर्डिनेट करने के लिए कंट्रोल रूम बनाया जाएगा। एक ग्रुप बनाकर इसकी निगरानी रखी जाएगी। अक्सर दफ्तरों में काम करने वाली महिलाओं को देर रात लौटते समय डर लगा रहता है कि टैक्सी ड्राइवर पर भरोसा किया जाए या नहीं, इसे लेकर महिलाओं को काफी समस्या होती है।

इस एप में सबसे पहले अपना रजिस्ट्रेशन करवाना होगा। इसके बाद आप जिस टैक्सी में बैठे हैं, अगर वह दिल्ली पुलिस के हिम्मत प्लस एप से रजिस्टर्ड है तो बैठने के दौरान QR कोड स्कैन कर लें। इसके बाद रिपोर्ट यात्रा के बटन को दबाना होगा। इसके बाद लाइव लोकेशन पुलिस मुख्यालय में बने हिम्मत एप स्टेशन तक पहुंचेगी। जिस टैक्सी, ऑटो में आप बैठे हैं वह दिल्ली पुलिस के ऐप पर रजिस्टर्ड नहीं हो तो आप एप के SOS बटन को प्रेस करने के साथ कंट्रोल रूम में फोन कर सकते हैं।

हिम्मत प्लस एप के साथ यात्रा करने के दरम्यान आपके पास हर 05 मिनट में एक मैसेज आएगा। आपसे पूछा जाएगा कि क्या आप सुरक्षित जा रहे हैं। इसके साथ तीन ऑपशन भी आएंगे, जिसमें तीन तरह के सवाल होंगे। इसमें आप यात्रा से जुड़े सवालों का जवाब भेज सकते हैं।

रक्षक न्यूज की राय:

राजधानी दिल्ली में महिलाओं की सुरक्षा का मामला हाल के वर्षों में एक बड़ी चुनौती बना है। ऐसे में ‘हिम्मत एप’ की रीलॉन्चिंग विशेषकर हर महिला के लिए मददगार साबित होगी। बावजूद इसके दिल्ली में महिलाओं को अभी और जागरूक करने और होने की जरूरत है। तभी ऐसे एप कारगर साबित होंगे।

Comments

Most Popular

To Top