North-Central India

चार पैर वाले 25 सिपाहियों का 9 करोड़ के घर में हुआ Welcome

Delhi Police dog squad

दिल्ली। अपनी पूँछ को दोस्ताना रूप से हिलाते हुए ये चार पैर वाले सिपाही आपको पहली नजर में मासूम लग सकते हैं, लेकिन चार पैर वाली ये पुलिस जब अपने काम पर जाती है, तो पूरी तरह पेशेवर अंदाज में नजर आती है। दिल्ली पुलिस ने हाल ही में 25 लेबराडोर श्वान खरीदे हैं, जो पुष्प विहार में एक केनल (श्वान घर) में रखे जाएंगे, दिल्ली पुलिस के कमिश्नर अमूल्य पटनायक ने उनका नए घर में स्वागत किया और नई बिल्डिंग का उद्घाटन किया।





यह बिल्डिंग 9 करोड़ रुपये की लागत से बनी है। यहां क्राइम ब्रांच का भी दफ्तर है। इन्हें यहां इसलिए रखा गया है, ताकि उन्हें जरूरत पड़ने पर अथवा आपातकालीन स्थिति में तुरंत तैनात किया जा सके। तीन से 18 माह के इन श्वानों को प्रारंभिक प्रशिक्षण भारतीय सेना द्वारा दिया गया है, जबकि अतिरिक्त प्रशिक्षण इन्हें दिल्ली पुलिस द्वारा दिया जाएगा।

Delhi Police

दिल्ली पुलिस आयुक्त ने नए घर में श्वान दस्ते का स्वागत किया और नई बिल्डिंग का उद्घाटन किया

वातानुकूलित घर में रहेगा पुलिस का श्वान दस्ता

पुलिस अधिकारियों ने बताया कि उन्हेंपूरी तरह एयर कंडीशन हाउस में रखा जाएगा। जहाँ डॉग फ्रैंडली फर्नीचर और एक रसोई भी बनाई गई है, जहां उनके लिए प्रतिदिन का भोजन तैयार किया जाएगा। उनके लिए स्पेशल कुक भी रखा गया है, जो उनके लिए मटन और दलिया बनाएगा। इन डॉग्स को पिछले साल भारतीय सेना से खरीदा गया था, क्योंकि 30 श्वान वाला दिल्ली पुलिस का मौजूदा श्वान दस्ता सेवानिवृत होना वाला है। एक अधिकारी ने कहा, प्रत्येक श्वान को विशेष गंध याद रखना और इसे चंद मिनटों में खोज निकलने के लिए एक कठिन प्रशिक्षण और अभ्यास से गुजरना पड़ता है। उनके हैंडलर्स उनके लिए विशुद्ध आहार व्यवस्था का पालन करते हैं, ताकि वे अपनी उचित शेप में हों और फिट रहें।

Delhi Police dog squad

वातानुकूलित घर में रहेगा ये दस्ता

ऐसी होती है समय के पाबंद डॉग्स की दिनचर्या

एक अन्य पुलिस अधिकारी के अनुसार ये डॉग अपने समय के बहुत पाबंद होते हैं। ये डॉग सवेरे अपने हैंडलर्स के साथ ही उठ जाते हैं और बिना किसी झिझक के ड्रिल्स के लिए जाते हैं। डीसीपी (क्राइम रिकॉर्ड्स ऑफिसर) राजन भगत ने कहा, “25 श्वान में से चार को अपराधियों पर नज़र रखने के लिए, 15 विस्फोटकों का पता लगाने और 6 को नशीले पदार्थों  को सूँघने के लिए प्रशिक्षित किया गया हैं।” इन डॉग्स की दिनचर्या सुबह सात बजे शुरू होती है। 8 से 9 बजे के बीच ये अपनी परेड करते हैं तथा 10 बजे भोजन करते हैं। शाम चार बजे फिर से परेड, पांच बजे ग्रूमिंग और पांच बजे भोजन करना होता है। दिल्ली पुलिस के एएसआई प्रदीप शर्मा ने बताया कि ये सभी श्वान मेरठ के RVC सेंटर से मंगाए गए हैं, जहाँ इनकी शुरूआती ट्रेनिंग हुई है और इन्हें अलग-अलग नाम दिए गए।

‘कैली’ टीम का सबसे एक्टिव डॉग

विस्फोटकों का पता लगाने का विशेषज्ञ ‘कैली’ नवनिर्मित क्राइम ब्रांच की इमारत का निरीक्षण कर रहा था। उनके हैंडलर ने कहा कि वह टीम में सबसे उत्साही श्वानों में से एक है। ‘कोरिस’ के हैंडलर कांस्टेबल दिनेश कुमार ने कहा, “जैसे ही मैं उस पर उसका हार्नेस (कवच या जैकेट) लगाता हूं, तो कोरिस समझ जाता है कि अब उसे अपने काम पर जाना है। इनकी खास बात ये है कि ये सिर्फ अपने हैंडलर की निर्देशों का ही पालन करते हैं।

delhi police dog squad

कैली इस दस्ते का सबसे एक्टिव डॉग है

दिल्ली पुलिस को जल्द मिलेंगे 100 अन्य श्वान

“बल में 70 कुत्तों के साथ, दिल्ली पुलिस जल्द ही 100 और श्वान प्राप्त कर सकती है, क्योंकि इन्हें खरीदने का प्रस्ताव पहले ही दिया जा चुका है। 2010 के राष्ट्रमंडल खेलों के दौरान, सभी जिलों में स्वानों को प्रहरी के तौर पर तैनात किया गया था। “सबसे पहले, नए भर्ती हुए कुत्तों को सूँघने और ट्रैक करने के लिए प्रशिक्षित किया जाता है। बाद में, कुछ को विस्फोटकों का पता लगाने के लिए प्रशिक्षित किया जाता है।”

delhi police dog squad

ज्यादातर डॉग्स विस्फोटक का पता लगाने के लिए ट्रेंड किए जाएंगे

अभी छुट्टियों पर है डॉग्स कॉप

दिल्ली पुलिस के अधिकारी मधुर वर्मा ने बताया, “जानवरों को आम तौर पर दिन में दो बार मांस और चावल दिया जाता है। वर्तमान में ये श्वान गर्मी की छुट्टियों पर हैं और केवल जघन्य अपराधों के मामले में ही उन्हें तैनात किया जाएगा।” उनके मुताबिक इन्हें आर्मी द्वारा छह माह की बेसिक ट्रेनिंग दी जाती है, इसके बाद तीन माह दिल्ली पुलिस के साथ कार्य का अभ्यास और छह माह की एडवांस ट्रेनिंग दी जाएगी।

Delhi Police

श्वान दस्ते के लिए बनाई गई नई इमारत का उदघाटन करते दिल्ली पुलिस के आयुक्त अमूल्य पटनायक

एक श्वान पर खाने का खर्च 1200 रुपए प्रतिदिन 

इन डॉग्स की मार्निंग डाइट 10 से 10:30 के बीच होती है जिसमें इन्हें दूध (फुलक्रीम) 1 लीटर, आटा 150 ग्राम, दलिया भुना हुआ 50 ग्राम, बासमती चावल 50 ग्राम, सर्दियों के दौरान दिन में 2 अंडे भी इनके डाइट प्लान में शामिल किए जाते हैं। शाम की डाइट 5 बजे से 5:30 के बीच होती है, जिसमें फ्रेश मटन 500 ग्राम, दलिया भुना हुआ 50 ग्राम, बासमती चावल 50 ग्राम, सोयाबीन 50 ग्राम, हल्दी 10 ग्राम, नमक 10ग्राम, रिफाइंड ऑयल 10 ग्राम,और 100 ग्राम हरी सब्जियां शामिल होती हैं।

delhi police dog squad

Comments

Most Popular

To Top