North-Central India

एंटी रोमियो दल की करतूत पर यूं भड़कीं डीआईजी रूपा

रूपा डी मोदगिल

नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश में सार्वजनिक स्थलों पर अश्लीलता और छेड़छाड़ रोकने के मकसद से शुरू हुए एंटी रोमियो अभियान की कामयाबी के लिए अपनाए जा रहे तौर-तरीके अब विवादों और आलोचनाओं का विषय बन रहे हैं।





लकीर के फकीर बने ऐसे कई पुलिस दल बहन के साथ जा रहे भाई और पति-पत्नी तक को नहीं बख्श रहे। गाजियाबाद के एक पार्क में ऐसे युवा जोड़े को थाने उठा ले गए तीन पुलिसकर्मियों को निलंबित किया गया है। हालत ये है कि महिलाओं की सुरक्षा की गरज से शुरू हुए इस अभियान में इस नियम तक को भुला दिया जाता है कि महिला को हिरासत में लेते वक्त महिला पुलिसकर्मी का होना जरूरी है। गाजियाबाद के अम्बेडकर पार्क से जोड़े को लाते वक्त पुलिस नियंत्रण कक्ष की वैन में कोई महिला पुलिसकर्मी नहीं थी।

शाहजहांपुर की उस घटना की तो कर्नाटक की वरिष्ठ आईपीएस अधिकारी रूपा डी मोदगिल ने जबरदस्त आलोचना की है जिसमें अपनी सहपाठी को ले जा रहे युवक को पकड़कर पुलिस ने गंजा करवा डाला।

कर्नाटक की इस आईपीएस अफसर ने इस पर ट्वीट करके निंदा की है। रूपा ने लिखा है कि पुलिसकर्मी संवेदनशीलता खो रहे और गैर वाजिब हरकतें कर रहे और अपनी बुद्धि का इस्तेमाल नहीं कर रहे। पुलिस से जुड़े विभिन्न मुद्दों पर मुखर रहने वाली डीआईजी (जेल) रूपा ने अपने ट्वीट के साथ इस घटना की प्रकाशित खबर भी नत्थी की है।

Comments

Most Popular

To Top