North India

बिछड़ों को मिलाते हैं ये पुलिस वाले, अब तक 77 को मिला चुके

पुलिस आयुक्त अमूल्य पटनायक

नई दिल्ली। रोहिणी जिले के विजय विहार इलाके में वर्ष 2016 के दौरान लापता हुए 82 बच्चों में से 77 को पुलिसकर्मियों ने तलाशकर उनके परिवार से मिलवा दिया। इस बेहतरीन काम के लिए एसएचओ सहित तीन पुलिसकर्मियों को पुलिस आयुक्त अमूल्य पटनायक ने असाधारण कार्य पुरस्कार से सम्मानित किया है। सम्मान पाने वाले पुलिसकर्मियों में एसएचओ अभिनेन्द्र जैन, महिला एसआई दिव्या मान और एसआई अनुज हैं।





सम्मान पाने वाले एसआई अनुज, एसएचओ अभिनेन्द्र जैन, और महिला एसआई दिव्या मान (बाएँ से दाएं )

डीसीपी ऋषिपाल के अनुसार विजय विहार थाना क्षेत्र में बुद्ध विहार, विजय विहार, पॉल कॉलोनी, सरदार कॉलोनी, मांगे राम पार्क जैसी अनाधिकृत कॉलोनियां आती हैं। इस इलाके में चार लाख लोग रहते हैं।

इनमें से अधिकांश गरीब तबके के लोग रहते हैं। ऐसे लोग पुलिस को बच्चे के बारे में अधिक जानकारी देने में भी हिचकते थे। इसे ध्यान में रखते हुए एक महिला सब इंस्पेक्टर सहित कुछ महिला पुलिसकर्मियों को भी इनकी तलाश में लगाया गया। इस दौरान पुलिसकर्मियों ने सादी वर्दी में जाकर परिवार से जानकारी जुटाई और उसके आधार पर छापेमारी कर कई बच्चियों को बरामद किया। कई मामलों में किशोरी को शादी का झांसा देकर भी आरोपी ले गए थे। बरामद किए गए बच्चों में 47 बच्चों (22 लड़के और 25 लड़कियां) की उम्र 13 से 16 वर्ष के बीच थी। वहीं 0 से 12 वर्ष के केवल 14 बच्चे (8 लड़के और 6 लड़कियां) और 17 से 18 वर्ष के 16 (4 लड़के और 12 लड़कियां) बच्चे पुलिस ने तलाशे।

Comments

Most Popular

To Top