East India

पुलिस ने सुकमा कांड के हफ्ते भर में मार गिराए 6 माओवादी

दंतेवाड़ा: सुकमा में सीआरपीएफ के 12 जवानों की शहादत के एक हफ्ते के भीतर पुलिस ने शनिवार को छत्तीसगढ़ में माओवादियों से प्रभावित जिलों में से एक दंतेवाड़ा में एक मुठभेड़ में 6 माओवादियों को मार गिराया। हालांकि, मुठभेड़ में एक पुलिसकर्मी के भी घायल होने की खबर है। मारे गए माओवादियों की संख्या और भी हो सकती है क्योंकि दो माओवादियों को गोली लगी है, हालांकि उनके शव अभी बरामद नहीं हो पाए हैं। मारे गए माओवादियों के पास से दो एके-47 और एक एसएलआर भी बरामद किया है।





पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार अरनपुर थाना क्षेत्राधिकारी के ग्राम बर्रेम डोरेपारा के जंगल पहाड़ी में डीआरएफ और एसटीएफ की संयुक्त टीम और माओवादियों के मध्य मुठभेड़ हुई। इस मुठभेड़ में कई के मारे जाने की आशंका जताई जा रही है। मुठभेड़ में महिला नक्सली कमांडर पलो के मारे जाने और गुण्डाधुर को गोली लगने की जानकारी सामने आ रही है। पुलिस माओवादी कमांडर गुण्डाधुर को घेरने का प्रयास कर रही है। मुठभेड़ में डिस्ट्रिक्ट रिजर्व ग्रुप (डीआरजी) कमांडो संग्राम सिंह के हाथ में गोली लगी है। एएसपी नक्सल ऑपरेशन जीन बघेल ने पांच माओवादियों के शव बरामद होने की पुष्टि की है।

गौरतलब है कि 11 मार्च को माओवादियों ने छत्तीसगढ़ के सुकमा में सीआरपीएफ पर हमला किया था। इस नक्सली हमले में सीआरपीएफ के 12 जवान शहीद हुए थे और कई जवान घायल हुए थे। माओवादियों ने जवानों के हथियार और रेडियो सेट्स भी लूट लिए थे। शहीद हुए जवान सीआरपीएफ की 219वीं बटालियन से थे। माओवादियों ने यह हमला सुकमा जिले के भेज्जी क्षेत्र में उस समय किया गया जब सीआरपीएफ के जवान इस इलाके मं अवरुद्ध सड़क को खाली कराने के काम में जुटे थे।

Comments

Most Popular

To Top