BSF

…जब सीमा सुरक्षा बल के जवान ने लांघी मर्यादा की ‘सीमा’

रेपिस्ट

मालदा। जिन जवानों के कंधे पर हमारी सुरक्षा निर्भर रहती है अगर वहीं जवान रक्षक से भक्षक बन जाए तो लोगों के विश्वास पर आघात माना जाता है। यहां एक ऐसा ही वाक्या सामने आया है, नए साल की वेलकम पार्टी के बीच रविवार की रात सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के एक जवान पर गंभीर आरोप लगा है। आरोप है कि बीएसएफ के एक जवान ने दुष्कर्म की इस घटना को अंजाम दिया। सूत्रों के अनुसार कॉलेज छात्रा की बीएसएफ जवान के साथ फेसबुक पर दोस्ती हुई। इसके बाद दोनों में मुलाकात का दौर शुरू हुआ, फिर दोनों के बीच दोस्ती गहरी हो गई।





बीएसएफ जवान पर आरोप है कि इसी का फायदा उठाकर रविवार रात को युवती के घर पहुंचा। उस समय घर में कोई नहीं था जिसका फायदा उठाकर उसने दुष्कर्म को अंजाम दिया। यह वारदात मालदा के नारायणपुर इलाके की है। इस मामले में मानिकचक थाने में पीड़ित युवती ने शिकायत दर्ज कराई है। जिसके बाद पुलिस ने आरोपी जवान को गिरफ्तार कर लिया है।

पुलिस सूत्रों के अनुसार आरोपी का नाम मोहम्मद दिलदार हुसैन है और वह इंग्लिश बाजार थाने के शोभानगर का निवासी है। वह सीमा सुरक्षा बल में कांस्टेबल के पद पर कार्यरत है। पहले उसकी ड्यूटी राजस्थान में थी।

पीड़िता ने पुलिस को बताया कि तीन महीने पहले फेसबुक पर मो. दिलदार हुसैन से उसका परिचय हुआ। इसके बाद फोन नंबर का आदान-प्रदान हुआ और फिर दोस्ती परवान चढ़ी। एक महीने पहले दिलदार हुसैन छुट्टी पर आया था। यहां आकर उसने युवती के घर आना-जाना शुरू कर दिया। घर के लोगों से भी दिलदार की जान-पहचान हो गई थी।

रविवार की रात को घर पर युवती के माता-पिता नहीं थे। वे मालदा में एक रिश्तेदार के घर गए थे। उसका फायदा उठाकर दिलदार अचानक घर आ पहुंचा। घर पर किसी के नहीं होने की वजह से उसने जोर-जबरदस्ती और जबरन दुष्कर्म किया। घटना के बाद आरोपी ने भागने की कोशिश की। उस वक्त चिल्लाने पर पड़ोसी वहां पहुंचे एवं दिलदार को पकड़ लिया। सूचना मिलने पर मानिकचक थाना की पुलिस वहां पहुंचने के बाद जवान को गिरफ्तार कर लिया। मानिकचक थाना की पुलिस मामले की जांच में जुटी है।

रक्षक के व्यू: 

जिन जवानों के कंधों पर देश की सुरक्षा की जिम्मेदारी है और जिनके जज्बे से सीमाएं है अगर वही ऐसी घटनाओं को अंजाम देंगे तो वह दुखद है। ऐसे कारनामे सीमा सुरक्षा बल की छवि खराब करते हैं। इस जवान पर आरोप साबित होने पर कानूनन कड़ी कार्रवाई की जरूरत है जो दूसरों के लिए सबक बने।

 

 

Comments

Most Popular

To Top