CRPF

जिस नक्सली ने बरसाई थीं गोलियां, उसे CRPF जवान ने अपना खून देकर बचाई जान

सीआरपीएफ जवान राज कमल

नई दिल्ली। जिस नक्सली ने केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (CRPF) के जवान पर गोलियां बरसाईं उसी जवान ने अपना खून देकर नक्सली की जान बचाई। खास बात यह है कि नक्सली सीआरपीएफ को अपना सबसे बड़ा दुश्मन मानते हैं और घात लगाकर तरह तरह से हमला करते हैं।





खबर के मुताबिक हाल के दिनों में नक्सलियों ने सीआरपीएफ की कोबरा बटालियन के जवानों पर हमला किया तो जवाबी कार्रवाई में कई नक्सली मारे गए। इसमें एक नक्सली बुरी तरह घायल हो गया। इलाज के दौरान डॉक्टरों ने कहा कि अगर खून नहीं मिला तो यह मर जाएगा। इसी बीच सीआरपीएफ की 133 बटालियन के कांस्टेबल राज कमल ने अपना खून दिया। अब वह खूंखार नक्सली खतरे से बाहर है।

सूत्रों के मुताबिक झारखंड के नक्सल प्रभावित खूंटी के जंगलों में 29 जनवरी को सीआरपीएफ की 209 कोबरा बटालियन और नक्सलियों के बीच जमकर फायरिंग हुई। इस मुठभेड़ में 05 नक्सली मारे गए और 02 घायल हुए थे। घायल नक्सली सोमोपूर्ति को रांची के राजेंद्र इंस्टीच्यूट में भर्ती कराया गया। डॉक्टरों ने कहा इसे खून की जरूरत है, इसे खून कौन देगा, कोई जान पहचान वाला तो है नहीं, जिसपर झारखंड में स्थित सीआरपीएफ की 133 बटालियन के कांस्टेबल राज कमल खूंखार नक्सली के लिए अपना खून देने को तैयार हो गए।

गौरतलब है कि सीआरपीएफ केवल नक्सलियों से लड़ाई ही नहीं लड़ती बल्कि उनके प्रभाव वाले क्षेत्रों में विकास के नए काम भी कर रही है। इस बार 26 जनवरी को सीआरपीएफ के अफसरों और जवानों ने 1100 यूनिट रक्त दान किया था।

Comments

Most Popular

To Top