SFF

जानिए स्पेशल फ्रंटियर फोर्स (SFF) के बारे में

स्पेशल फ्रंटियर फोर्स देश की अर्धसैनिक बलों में से एक है। स्पेशल फ्रंटियर फोर्स के गठन का मुख्य उद्देश सीमा पर भारत-चीन वार के दौरान चीनी सेना की गतिविधियों को अपनी सेना से तक पहुंचाने के लिए गया था। बाद में इसका उपयोग की वार और की ऑपरेशन में भी किया गया।

गठन: 14 नवंबर 1962





सक्रिय सैनिक: 10,000

मुख्यालय: चकराता (उत्तराखंड)

स्पेशल फ्रंटियर फोर्स (SFF) देश के अर्धसैनिक बलों में एक है। स्पेशल फ्रंटियर फोर्स के गठन का मुख्य उद्देश्य सीमा पर भारत-चीन वार के दौरान चीनी सेना की गतिविधियों को अपनी सेना तक पहुंचाने के लिए गया था। बाद में इसका उपयोग युद्ध और अहम ऑपरेशन में भी किया गया। स्पेशल फ्रंटियर फोर्स में फिलहाल 10,000 सैनिक कार्यरत हैं। पहले इसे मुख्य रूप से इंटेलिजेंस ब्यूरो (IB) के अधीन रखा गया था। अब यह रॉ (RAW) और देश की दूसरी खुफिया एजेंसियों के निर्देशन पर काम करती है।

मुख्य विशेषताएं : यह फोर्स विशेष टोही, सीधी कार्रवाई, बंधक बचाव, आतंकवाद विरोधी गतिविधियों, अपरंपरागत युद्ध और गुप्त ऑपरेशन को अंजाम देने में माहिर है।

मुख्य ऑपरेशनस्पेशल फ्रंटियर फोर्स अब तक भारत-पाक युद्ध (1971), कारगिल वार (1999), ऑपरेशन ब्लू स्टार, ऑपरेशन पवन, ऑपरेशन कैक्टस, आपरेशन रक्षक जैसे गुप्त ऑपरेशन में अपनी अहम भूमिका अदा कर चुकी है।

Comments

Most Popular

To Top