Forces

सात महिलाओं का जीवन बचा लिया एसएसबी ने

एसएसबी-के-जवान

नई दिल्ली: भारत-नेपाल सीमा पर तैनात सशस्त्र सीमा बल (एसएसबी) की 41वीं वाहिनी ने असिस्टेंट कमांडेंट रीना की अगुवाई में सात महिलाओं को तस्कर के चंगुल से सकुशल छुड़ाया है और मानव तस्कर को गिरफ्तार कर लिया है। इन महिलाओं को मजदूरी कराने के लिए नेपाल से कुवैत भारत के रास्ते ले जाया जा रहा था।





एसएसबी ने तस्कर को एनएच-31, बागडोगरा, पश्चिम बंगाल से गिरफ्तार किया गया है। यह तस्कर महिलाओं को कुवैत लेकर जा रहा था। शुरुआती पूछताछ में तस्कर ने बताया कि उसने दिल्ली में अपने एजेंटों को 10,000 रुपए अग्रिम राशि दी है ताकि वह इन महिलाओं के पासपोर्ट और वीजा का प्रबंध कर सके। उसने यह भी खुलासा किया है कि इससे पहले भी कई महिलाएं कुवैत जा चुकी हैं। पीड़ित सभी महिलाएं नेपाल की हैं।

एसएसबी ने सभी पीड़ित महिलाओं को गैर सरकारी संगठन मैती (नेपाल) और टिनी हैंड्स (भारत) के सामने नेपाल आर्म पुलिस को सौंप दिया है। गौरतलब है कि एसएसबी ने सीमा पर मानव तस्करी रोकने के लिए काफी समय से अभियान छेड़ा हुआ है। एसएसबी लगातार मानव तस्करों को पकड़ रही है।

39 हजार अमेरिकन डॉलर के साथ एक को पकड़ा
एसएसबी की 41 नंबर बटालियन ने मंगलवार को गुप्त सूचना के आधार पर अभियान चलाकर भारत-नेपाल सीमा पर पानी टंकी से 39,000 अमेरिकन डॉलर के साथ पिंटू सिंह नामक एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया।

पिंटू सिंह एसएसबी की गिरफ्त में

एसएसबी के एक अधिकारी ने बताया कि पिंटू के पास से 100 अमेरिकी डॉलर के 334 एवं 50 अमेरिकी डॉलर के 112 नोट बरामद किये गये हैं। जब्त अमेरिकी डॉलर का मूल्य भारतीय करेंसी में 24 लाख 96 हजार रूपये है। पूछताछ में पिंटू सिंह ने बताया कि उसने कांकडविटा में भरत रेग्मी से ये अमेरिकी डॉलर हासिल किए थे। उसे इन अमेरिकी डॉलर को पानी टंकी में किसी दूसरे व्यक्ति को सप्लाई करने के लिए कहा गया था।

Comments

Most Popular

To Top