Forces

शहीद के परिजनों को एक करोड़ देने का विचार: राजनाथ

श्रीनगर। केंद्र सरकार जम्मू कश्मीर में तैनात सुरक्षाबलों और पुलिसकर्मियों के लिए कई योजनाएं चलाने जा रही है। केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि उनका टारगेट ड्यूटी के दौरान मारे गए केंद्रीय सशस्त्र बलों के कर्मियों के परिवारों को एक करोड़ रुपए की आर्थिक सहायता राशि देने का है। उन्होंने कहा, जम्मू-कश्मीर पुलिस के जवान देश, कश्मीर और कश्मीरियों के लिए बलिदान दे रहे हैं लेकिन यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि लोग इसे समझने को तैयार नहीं हैं।





सैनिक सम्मेलन में की थी शिरकत

सीआरपीएफ के 90वीं बटालियन के खनबल मुख्यालय पर सैनिक सम्मेलन में केंद्रीय गृहमंत्री ने कहा, ‘यह मेरा लक्ष्य है कि केंद्रीय सशस्त्र बल के शहीद के परिवार को कम से कम एक करोड़ रुपए की आर्थिक राहत दी जाए।’ विद्रोही गतिविधियों के दौरान ड्यूटी में सीआरपीएफ कर्मियों की वीरता की प्रशंसा करते हुए राजनाथ सिंह ने कहा, हमें अपने सीआरपीएफ कर्मियों पर गर्व है। साहस किसी बाजार से नहीं खरीदा जा सकता। आप अविश्वसनीय व बेजोड़ साहस के साथ पैदा हुए हैं।

वर्तमान मुआवजा नियमों के अनुसार सीआरपीएफ, बीएसएफ, आईटीबीपी,एनएसजी, सीआईएसएफ, एसएसबी और असम राइफल्स जैसे सीएपीएफ के शहीद जवानों के परिवार को 60-70 लाख रूपये मिलते हैं। राजनाथ सिंह ने कहा कि सरकार ने शहीदों के परिजनों की मदद के लिए भारत के वीर कार्यक्रम चलाया था।

Comments

Most Popular

To Top