Army

इस मंदिर पर पाकिस्तान ने गिराए 3 हजार बम पर सारे हो गये फुस्स, 7 खास बातें

राजस्थान के जैसलमेर से लगभग 125 किलोमीटर दूर तनोट राय माता का मंदिर है। यह मंदिर अपने चमत्कारों के लिए पूरे देश में प्रसिद्ध है। माता तनोट राय के मंदिर को श्री आवड़ देवी मंदिर के नाम से भी जाना जाता है। यह एक ऐसा मंदिर है, जिसकी देख-रेख तथा पूजा-अर्चना का काम भी सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) द्वारा ही किया जाता है। 1965 में हुए भारत पाकिस्तान युद्ध के दौरान जहां हर तरफ भारी नुकसान हुआ था लेकिन वहीं मंदिर का बाल भी बांका नहीं हुआ। आखिर क्यों ख़ास है यह मंदिर आइये जानते हैं।





यहां दुश्मन ने गिराए थे तीन हजार बम

इस मंदिर को हिंगलाज माता के रूप में भी जाना जाता है। वर्तमान में हिंगलाज माता का शक्तिपीठ पाकिस्तान के बलोचिस्तान में स्थित है। लेकिन तनोट माता का मंदिर के बारे में आपको यह जानकर हैरानी होगी कि 1965 के दौरान हुए भारत-पाकिस्तान युद्ध में भारतीय सेना ने इस मंदिर को एक पोस्ट के रूप में इस्तेमाल किया था। इस दौरान पाकिस्तान ने इस स्थान पर तकरीबन 3,000 बम गिराए। लेकिन इस मंदिर का कुछ न बिगाड़ सके। इस चमत्कार को देखकर भारतीय सेना में इस स्थान के प्रति श्रद्धा और बढ़ गई। इस युद्ध में पाकिस्तान को बुरी तरह हार का सामना करना पड़ा था। 

Comments

Most Popular

To Top