ITBP

ITBP : दुर्गम अग्रिम चौकियों पर हिमवीरों के उत्साह और चौकसी को गृह मंत्री ने सराहा

गृह मंत्री राजनाथ सिंह

ग्रेटर नोएडा। भारत-तिब्बत सीमा पुलिस बल (आईटीबीपी) के 57वें स्थापना दिवस की परेड आईटीबीपी की 39वीं वाहिनी, ग्रेटर नोएडा में आयोजित की गई। केन्द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने परेड की सलामी ली। महिला टुकड़ी परेड में सबसे आगे थी और फिर कमांडो, स्कीइंग, एंटी नक्सल ऑपरेशन, पैराट्रूपर्स, माउंटेड कॉलम एवं अन्य फ्रंटियरों की टुकड़ियाँ क्रमानुसार सम्मिलित थीं। परेड में बल के सभी पहलुओं को दर्शाया गया जिसमें अश्व (Horse) व श्वान (Dog) दस्ता, स्नो स्कूटर्स, विभिन्न प्रकार के All Terrain Vehicles, विभिन्न हाई पावर SUVs , पोलनेट इत्यादि तथा डमी हेलीकॉप्टर भी सम्मिलित थे।





आईटीबीपी जवान परेड करते हुए

राजनाथ सिंह ने बल के सभी पदाधिकारियों को बधाई दी और बल द्वारा देश के हिमालयी क्षेत्र में स्थित अति कठिन एवं दुर्गम अग्रिम चैकियों पर उत्साह और चौकसी से की जा रही ड्यूटियों के लिए हिमवीरों की प्रशंसा की। उन्होंने आईटीबीपी द्वारा महिला सशक्तिकरण, डिजिटल इंडिया, स्वच्छ भारत अभियान एवं विश्व योग दिवस में की गई सक्रिय पहल की सराहना की।

आईटीबीपी के महानिदेशक आरके पचनंदा ने मुख्य अतिथि एवं अन्य गणमान्य व्यक्तियों का स्वागत किया और बल के विभिन्न क्रिया-कलापों एवं उपलब्धियों पर प्रकाश डाला। इस मौके पर बल के 01 कर्मी को उत्तम जीवन रक्षा जीवन पदक, 05 पदाधिकारियों को विशिष्ट सेवा के लिए राष्ट्रपति पुलिस पदक, 23 अन्य पदाधिकारियों को सराहनीय सेवा के लिए पुलिस पदक तथा 01 कर्मी को जीवन रक्षा पदक से विभूषित किया गया।

ITBP जवान

इस अवसर पर आईटीबीपी में प्रारंभ की गई ट्रॉफियों के अनुक्रम में सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी की ट्रॉफी अंतरराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त जूडोका एएसआई कल्पना थोडम देवी को, सर्वश्रेष्ठ प्रशिक्षण केंद्र की ट्रॉफी आरटीसी, करेरा (म0प्र0) को एवं स्वच्छता ट्रॉफी 28वीं वाहिनी को प्रदान की गई।

इस मौके पर बल की वर्षभर की उपलब्धियों की व्याख्या करते हुए एक वार्षिक विशेषांक पुस्तिका का भी विमोचन किया गया। परेड के बाद जवानों ने अपने कौशल का प्रदर्शन किया जिसमें ‘‘जाँबाज मोटर साइकिल’’ एवं कार्मिकों द्वारा हथियार के साथ ‘‘साइलेंट वेपन ड्रिल-राइफल मैजिक’’ के प्रदर्शन शामिल थे। माउंटेट कॉलम एवं व्हीकल डिअसेंबलिंग/असेंबलिंग के खास प्रदर्शन भी दिखाए गए।

बाद में माननीय केंद्रीय गृह मंत्री द्वारा केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों के लिए समर्पित 200 बिस्तरों वाले सबसे बड़े रेफरल चिकित्सालय का भी उद्घाटन ग्रेटर नोएडा में किया गया। यह आईटीबीपी के प्रशासनिक नियंत्रण में संचालित होगा। यह केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों का सबसे बड़ा और सभी आधुनिक उपकरणों एवं उपचार की पद्धतियों से लैस अस्पताल है। इसमें आधुनिक पैथोलॉजी लैब, रेडियोलॉजी विभाग, ऑपरेशन थिएटर के साथ-साथ विभिन्न विशेष विभाग जैसे-बालरोग, प्रसूति विभाग, नेत्ररोग, मेडिसन, नाक, कान, गला और अस्थिरोग इत्यादि विभाग उपलब्ध हैं। निकट भविष्य में कार्डियोलॉजी, न्यूरोलॉजी, नेफरोलॉजी व न्यूरोसर्जरी जैसे विभाग भी इस चिकित्सालय में शामिल होंगे। इस चिकित्सालय को लगभग 121 करोड़ रूपये की लागत से तैयार किया गया है।

Comments

Most Popular

To Top