ITBP

ITBP की मदद से अरुणाचल के इस गांव में पहली बार हुआ मतदान

अरुणाचल के गांव में आईटीबीपी

कुरुंग कुमे (अरुणाचल प्रदेश)। अरुणाचल प्रदेश के एक दूर-दराज स्थित गांव में भारत तिब्बत सीमा पुलिस (ITBP) की मदद से पहली बार मतदान हुआ है। अरुणाचल के सुदूर जिले के ज्ञापिन पोलिंग बूथ पर ग्रामीणों ने पहली बार अपने गांव में स्थापित मतदान केंद्र पर वोट डाले।





बता दें कि 11 अप्रैल को पहले चरण के मतदान के दौरान यहां पहली बार मतदान केंद्र स्थापित किया गया जिसके लिए चुनाव दल आईटीबीपी के जवानों के साथ 45 किलोमीटर का पैदल रास्ता तय करके इस केंद्र तक पहुंचा था। इस गांव से 45 किलोमीटर दूर पारसी पालो नामक जगह से ही सड़क की उपलब्धता है जिसके बाद आगे का रास्ता बहुत ही मुश्किल है जिसमें पहाड़ी नदियां, बारिश, जंगल और घनी झाड़ियां हैं। रास्ते पर कई झूला पुल, लकड़ी की सीढ़ियां आदि थीं। इसमें 25 किलोमीटर का रास्ता चढ़ाई और 10 किलोमीटर का रास्ता उतराई वाला है जिसमें पैदल चलना भी एक मुश्किल काम था लेकिन इन सब के बावजूद पोलिंग पार्टी और आईटीबीपी के जवानों ने साथ मिलकर यह रास्ता तय किया और 11 अप्रैल को पहले चरण की वोटिंग के दौरान यहां 346 ग्रामीणों ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया।

अरुणाचल के गांव में आईटीबीपी

इस गांव के अधिकतर परिवार इटानगर में रहते हैं और गांव में इन लोगों का आना जाना लगा रहता है। स्वतंत्र भारत के इतिहास में पहली बार यहां मतदान केंद्र स्थापित किया गया था।

कुल 90 किलोमीटर का आने-जाने का रास्ता 06 दिन में पूरा किया गया। आईटीबीपी भारत चीन सीमा पर अरुणाचल प्रदेश में सीमा सुरक्षा और प्रबंधन हेतु वर्ष 2004 से तैनात है।

 

Comments

Most Popular

To Top