DEFENCE

गजब है आईटीबीपी के जवानों की जांबाजी, क्या कहा रिजिजू ने

आईटीबीपी

नई दिल्ली। दिलेरी और जिन्दादिली का दूसरा नाम इंडो-तिब्बत बार्डर पुलिस। हिम आच्छादित और दुर्गम भारत-तिब्बत सीमा पर जवानों के रोंगटे खड़े कर देने वाले साहस पर नजर डालेंगे तो दिल दहल जाएगा पर हमारे जवानों के लिए तो रोजमर्रा का काम है। जान हथेली पर रखकर ये जवान भारत-तिब्बत सीमा की ड्रैगन से रक्षा कर रहे हैं। केन्द्रीय गृह राज्य मंत्री किरेन रिजिजू ने जब पहाड़ों पर चलते हुए इन्हें देखा तो कहा उठे, “इन जवानों की जिन्दादिली काबिल-ए-तारीफ़ है।





आईटीबीपी

आईटीबीपी जवानों के साथ केन्द्रीय गृह राज्यमंत्री किरेन रिजिजू

दरअसल वह दो दिन के दौरे पर उत्तराखंड में हैं। उन्होंने औली में ITBP Mountaneering and skiing institute का चेयरलिफ्ट से दौरा किया। इस दौरान उनके साथ अधिकारी भी थे और वह कुछ योजनाओं पर चर्चा भी कर रहे थे। उन्होंने भारत-चीन बार्डर की सुरक्षा में जुटे हिमवीरों से रिमखिम और लापथल में मुलाकात भी की।

आईटीबीपी

किरेन रिजिजू ने भारत-चीन बार्डर की सुरक्षा में जुटे हिमवीरों से रिमखिम और लापथल में मुलाकात भी की

रिजिजू ने सोमवार को उत्तराखंड के चमोली जिले का दौरा करने के साथ आईटीबीपी यूनिट से मुलाकात की और नीति घाटी का मुआयना किया। रिजिजू ने औली में आईटीबीपी के अधिकारियों से भी वार्ता की।

किरेन रिजिजू ने ट्वीट कर लिखा कि बिना जमीनी हकीकत जाने हम असल बुनियादी जरूरतों और समस्याओं को नहीं समझ पाएंगे। आईटीबीपी और आर्मी वालों के जोश को देखकर अच्छा लगा।

Comments

Most Popular

To Top