ITBP

आईटीबीपी ने किया अंतर्राष्ट्रीय पर्वतारोहण अभियान ‘माउण्ट धौलागिरी-।’ का फ्लैग ऑफ

आईटीबीपी

नई दिल्ली। गृह सचिव राजीव महर्षि और आईटीबीपी डीजी कृष्ण चौधरी ने आईटीबीपी के पहले अंतर्राष्ट्रीय पर्वतारोहण अभियान ‘धौलागिरी (8167 मीटर)’ को आईटीबीपी मुख्यालय से फ्लैग ऑंफ किया। इस अवसर पर महर्षि ने पर्वतारोहण के क्षेत्र में आईटीबीपी द्वारा अर्जित उपलब्धियों का उल्लेख करते हुए आईटीबीपी को ‘धौलागिरी‘ पर्वतारोहण अभियान की सफलता के लिए शुभकामनाएँ दी।





गृह सचिव राजीव महर्षि को स्मृति चिन्ह भेंट करते आईटीबीपी डीजी कृष्ण चौधरी

आईटीबीपी के अंतर्राष्ट्रीय पर्वतारोहण अभियान ‘धौलागिरी (8167 मीटर)’ के फ्लैग आफ के दौरान गृह सचिव राजीव महर्षि को स्मृति चिन्ह भेंट करते आईटीबीपी डीजी कृष्ण चौधरी

 

आईटीबीपी के कार्यक्रम में गृह सचिव राजीव महर्षि

गृह सचिव राजीव महर्षि पर्वतारोही दल की तैयारियों का जायजा लेते हुए

महर्षि ने कहा कि आईटीबीपी ने पर्वतीय क्षेत्रों में पर्वतारोहण के ज्ञान का प्राकृतिक आपदाओं से निपटने में भरपूर उपयोग कर जन-धन के नुकसान को कम से कम करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।

सेनानी अर्जुन सिंह कर रहे दुनिया की 7वीं सबसे ऊँची चोटी पर अभियान का नेतृत्व

इस अवसर पर कृष्ण चौधरी ने कहा कि धौलागिरी पर्वत पर आईटीबीपी के पर्वतारोही पहली बार आरोहण करने जा रहे हैं। इस अभियान का नेतृत्व सेनानी अर्जुन सिंह कर रहे हैं। इस अभियान में कुल 25 सदस्य शामिल हैं। धौलागिरी पर्वत नेपाल की राजधानी काठमाण्डू में स्थित है तथा इसकी चोटी समुद्र तल से 8167 मीटर की ऊँचाई पर स्थित है। धौलागिरी दुनिया की 7वीं (26,795 फीट) सबसे ऊँची चोटी है। इस पर पहली बार वर्ष 1960 में स्विस-ऑस्ट्रियन-नेपाली अभियान ने आरोहण किया था।

आईटीबीपी ने 200 से अधिक पर्वत शिखरों पर देश व बल का ध्वज फहराने का गौरव हासिल किया है। आईटीबीपी के पर्वतारोहियों ने सन् 1984, 1992, 1996, 2006 एवं 2012 में माउण्ट एवरेस्ट पर आरोहण किया है। अब तक आईटीबीपी के 24 अधिकारी व जवान माउण्ट एवरेस्ट पर आरोहण कर चुके हैं।

Comments

Most Popular

To Top