ICG

स्पेशल रिपोर्ट: समुद्री डाकुओं के खिलाफ 19 देशों की बैठक

समुद्री डाकू
फाइल फोटो

नई दिल्ली। समुद्री डाकाजनी से निबटने के लिये क्षमता मजबूत करने के इरादे से भारतीय कोस्ट गार्ड 19-20 जून को एक अंतरराष्ट्रीय गोष्ठी आयोजित कर रहा है जिसमें 19 देशों के 31 प्रतिनिधि भाग ले रहे हैं। इसके अलावा भारत के बड़े बंदरगाहों, राज्य समुद्री बोर्ड, राज्य समुद्री पुलिस, जहाजरानी निदेशालय और राष्ट्रीय जहाज मालिक संगठन के प्रतिनिधि भाग लेंगे।





भारतीय कोस्ट गार्ड के मुताबिक वर्कशाप तटीय देशों के क्षेत्रीय सहयोग समझौता रीकैप के तहत आयोजित हो रहा है। एशिया में समुद्री डाकुओं से निबटने के लिये रिकैप पहली सरकारी स्तर पर गठित व्यवस्था है। फिलहाल 20 देश रिकैप के सदस्य हैं। जापान औऱ सिंगापुर के सहयोग से रिकैप की स्थापना में भारत ने सक्रिय भूमिका निभाई है। इसके तहत एक इऩफार्मेशन शेयरिंग सेंटर की स्थापना की गई है। रिकैप के लिये भारत सरकार ने कोस्ट गार्ड को मुख्य एजेंसी के तौर पर नामजद किया है। इस 12 वी गोष्ठी के तहत समुद्री डाकुओं के खिलाफ अपनाई जाने वाली श्रेष्ठ प्रक्रियाओं की जानकारी एक दूसरे से साझा करनी है। गोष्ठी में समुद्री डाकुओं से सम्बन्धित कानून , आपराधिक जांच और उभरते खतरों के बारे में चर्चा की जाएगी।

Comments

Most Popular

To Top