Paramilitary Force

सिर्फ एक उपचुनाव के लिए 74 हजार अर्धसैनिक बल की मांग !

अर्धसैनिक बल

नई दिल्ली। चुनाव आयोग ने 25 मई को होने वाले अनंतनाग लोकसभा उपचुनाव के लिए केंद्र सरकार से 74 हजार अर्धसैनिक बल की मांग की है। यह मांग अभूतपूर्व है क्योंकि हाल में संपन्न हुए पांच राज्यों के विधान सभा चुनाव के लिए आयोग ने 70 हजार अर्धसैनिक बल की मांग की थी इसमें उत्तर प्रदेश की 403 विधानसभा सीटें शामिल थीं।





आधिकारिक सूत्रों के अनुसार चुनाव आयोग ने गृह मंत्रालय से कहा है कि उसे 12 मई तक अर्धसैनिक बल की 740 कम्पनियां चाहिए। एक कम्पनी में 100 जवान होते हैं।

यहाँ यह बताना जरूरी है कि चुनाव आयोग ने श्रीनगर और अनंतनाग लोकसभा सीट के लिए 30 हजार अर्धसैनिक बल मांगे थे। श्रीनगर में मतदान भारी हिंसा के बीच 9 अप्रैल को संपन्न हो चुका है जबकि अनंतनाग के लिए मतदान 12 अप्रैल को होना था लेकिन हिंसा के कारण इसे 25 मई तक के लिए टाल दिया गया।

आधिकारिक सूत्रों के अनुसार सामान्य परिस्थितियों में मतदान के दौरान एक संसदीय क्षेत्र में 10 कंपनियों (एक हजार जवान) की तैनाती की जाती है। ऐसे में गृह मंत्रालय के आगे यह बड़ी समस्या है कि वह इतने कम समय में इतनी बड़ी संख्या में सुरक्षा कर्मियों की व्यवस्था कैसे कर पाएगा। फिलहाल गृह मंत्रालय 150 कम्पनी ही उपलब्ध कराने की स्थिति में है।

सूत्रों के अनुसार गृह मंत्रालय के अधिकार क्षेत्र में 10 लाख अर्धसैनिक जवान हैं लेकिन इतने कम समय में देश के विभिन्न हिस्सों से इतने जवानों को इकट्ठा कर पाना बेहद मुश्किल है। बता दें कि

जम्मू-कश्मीर की गठबंधन सरकार की साझीदार पीडीपी ने चुनाव आयोग से क्षेत्र में स्थिति विस्फोटक होने के कारण अनंतनाग उपचुनाव अनिश्चित काल के लिए स्थगित करने की अपील की है।

Comments

Most Popular

To Top