CRPF

नक्सल मोर्चे पर जल्द ही डटेगी 1000 महिलाओं की टुकड़ी

उषा किरण

रायपुर। केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (CRPF-सीआरपीएफ) और राज्य पुलिस ने बस्तर जिले के नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में करीब एक हजार महिलाओं की टुकड़ी को तैनात किए जाने के लिए तैयारियां तेज कर दी हैं। CRPF ने अपनी करीब 270 महिला सिपाहियों को विशेष प्रशिक्षण के लिए भेज दिया है। अम्बिकापुर स्थित सीआरपीएफ के प्रशिक्षण केंद्र में उनको 10 महीनों तक युद्ध जैसी स्थितियों का प्रशिक्षण किया जाएगा। उसके बाद उनको बस्तर में तैनात किया जाएगा।





डीआईजी-सुंदर-राज-पी

बस्तर पुलिस उप महानिरीक्षक सुंदर राज पी (फाइल फोटो)

इस बीच राज्य पुलिस ने भी करीब 750 महिला सिपाहियों को वहां तैनात करने पर काम शुरू किया है। इनमें कुछ जिला पुलिस की ‘आरक्षक’ होंगी तो कुछ को नई भर्ती से लिया जाएगा। इनको जंगलों में लड़ाई के तौर-तरीको का एडवांस प्रशिक्षण देने के लिए जल्दी ही भेजा जाएगा।

  • बताया जा रहा है कि सीआरपीएफ में 80वीं बटालियन की असिस्टेंट कमांडेंट उषा किरण को इस महिला टुकड़ी की कमान दी जा सकती है। असिस्टेंट कमाडेंट उषा किरण सीआरपीएफ परिवार से संबध रखती है। उनके दादा सीआरपीएफ में थे, जबकि पिता अब भी सीआरपीएफ में है। उनका भाई आरपीएफ में है और उनकी बहनें पुलिस में आने की तैयारी मे जुटीं है।
उषा किरण

उषा किरण (फाइल फोटो)

 

बस्तर पुलिस उप महानिरीक्षक सुंदर राज पी ने जानकारी देते हुए बताया कि नक्सल मोर्चे पर महिला सैनिकों की तैनाती की जाएगी। दक्षिण बस्तर में नक्सल उन्मूलन के नाम पर मानवाधिकारों के हनन की बढ़ती शिकायतों को देखते हुए छत्तीसगढ़ सरकार ने इसी साल फरवरी में दंतेवाड़ा में पुलिस उप महानिरीक्षक के पद पर नियुक्त किया था।

Comments

Most Popular

To Top