CRPF

कश्मीर में आतंकियों-पत्थरबाजों के लिए ‘काल’ बनेंगे CRPF के ये 500 कमांडो

सीआरपीएफ कमांडोज

जम्मू। अब कश्मीर घाटी में आतंकियों और उनके मददगारों से निपटने के लिए सीआरपीएफ ने अपनी सभी कंपनियों से 500 कमांडोज का एक-एक ग्रुप तैयार कराया है जिन्हें जल्द ही कश्मीर घाटी भेजा जाएगा। इसके अलावा जवानों को पैलेट गन के बजाय PAVA बम से लैस करने की तैयारी भी चल रही है।





कमांडोज को आतंकियों से लोहा लेने के लिए खास तरीके से फायरिंग और ग्रेनेड फेंकने की ट्रेनिंग भी दी जा रही है। सीआरपीएफ के कमांडो ट्रेनिंग स्कूल में वही जवान टिक सकता है, जो रोजाना 40 किलोमीटर पैदल चल सके, 16 किलोमीटर दौड़ सके और जो जंगलों में 5 से 6 दिन बिना खाए-पिए रह सके।

क्या कश्मीर में PAVA बम बनेगा पत्थरबाजों-दंगाइयों का इलाज?

कश्मीर में तैनात होने जा रहे ये खास कमांडो अपनी जान जोखिम में डालकर इन आतंकियों को ठिकाने लगाएंगे। फिर चाहे आतंकी घर के अंदर छिपा हो या फिर घने जंगलों में। ये कमांडो रस्सी के सहारे 50 फिट ऊंचाई से उतर सकते हैं। इन स्पेशल कमांडोज की जरूरत इसलिए है, क्योंकि आतंकी कश्मीर घाटी में स्थानीय लोगों को ढाल बनाकर सुरक्षा बलों पर हमला कर रहे हैं।

जम्मू कश्मीर के डीजीपी ने केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह से मुलाकात की

जम्मू कश्मीर पुलिस महानिदेशक एस.पी. वैद

प्रधानमंत्री कार्यालय से सम्बद्ध केंद्रीय राज्य मंत्री डॉ जितेंद्र सिंह से दिल्ली में जम्मू कश्मीर पुलिस महानिदेशक एस.पी. वैद ने मुलाकात की।

प्रधानमंत्री कार्यालय से सम्बद्ध केंद्रीय राज्य मंत्री डॉ जितेंद्र सिंह से दिल्ली में जम्मू कश्मीर पुलिस महानिदेशक एस.पी. वैद ने मुलाकात की। इस दौरान जितेंद्र सिंह ने डीजीपी वैद से जम्मू कश्मीर के ताजा हालात पर विस्तृत चर्चा की और आवश्यक निर्देश दिए। सिंह ने कश्मीर घाटी में तनाव बढ़ने और अलगाववादियों द्वारा बुलाये गए बंद पर भी जानकारी ली।

गोली नहीं देखती सामने कौन है इसलिए घर में ही रहें

उल्लेखनीय है कि कश्मीर घाटी में लगातार तनाव बढ़ता जा रहा है। तीन युवकों की मौत के बाद अलगाववादियों ने बुधवार को राज्यभर में बंद बुलाया था। विश्वविद्यालयों ने इसकी वजह से परीक्षा स्थगित कर दी थी। बारामूला और बनिहाल के बीच की ट्रेन सेवाएं आज के लिए स्थगित की गई हैं। दरअसल जम्मू-कश्मीर के बडगाम में हुई मुठभेड़ में सुरक्षाबलों को एक साथ दो मोर्चों पर लड़ना पड़ा। एक तरफ आतंकी चुनौती दे रहे थे तो दूसरी तरफ स्थानीय नागरिक पत्थरबाज़ी कर आतंकियों को कवर दे रहे थे।

Comments

Most Popular

To Top