CRPF

घाटी में अब तक का सबसे बड़ा हमला, 40 जवान शहीद, NIA टीम रवाना

आतंकी हमला

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर में हुए अब तक के सबसे बड़े आतंकी हमले में 40 जवान शहीद और कई घायल हो गए। इस जबरदस्त हमले को देखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आवास पर कैबिनेट की बैठक की गई। इस बैठक के बाद गृह मंत्री राजनाथ सिंह घटनास्थल जाएंगे। वह शहीद जवानों को दी जानी वाली श्रद्धांजलि सभा में भी शामिल होंगे। इस हमले की जिम्मेदारी आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने ली है।





इस हमले के विरोध मे पूरा जम्मू-कश्मीर बंद है। वहां इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी गई है।

घटनास्थल पर सबूतों को बचाने के लिए प्लास्टिक से ढक दिया गया है। इस बीच राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसी (NIA) घटनास्थल पर रवाना हो गई है। सेना के जवानों ने घटनास्थल पर रात भर पहरा दिया है। इस समय पूरे इलाके में सुरक्षा चाक-चौबंद कर दी गई है।

मामले की गंभीरता को देखते हुए रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण स्वीडन दौरे को कैंसिल कर वापस लौट आईं हैं। जम्मू-कश्मीर के गवर्नर सत्यपाल मलिक ने कहा है कि वह भी शहीद सैनिकों को दी जाने वाली श्रद्धांजलि सभा में शामिल होने जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि वे आला अधिकारियों के साथ बैठक पर जानने की कोशिश करेंगे कि आखिर चूक कहां हुई।

पाकिस्तान द्वारा इस हमले में अपनी भागीदारी नकारने के बाद गवर्नर सत्यपाल मलिक ने कहा कि पाकिस्तान बकवास कर रहा है। उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर में सफल पंचायत चुनाव के बाद पाकिस्तान बौखलाया हुआ है। जम्मू-कश्मीर में पत्थरबाजी बंद हो गई है और आतंकी तैयार करने की भर्ती बंद हो चुकी है। इसलिए पाकिस्तान ऐसी हरकतों को अंजाम दे रहा है।

Comments

Most Popular

To Top