CRPF

सुकमा हमला : सच निकली CRPF जवान शेर की बात

शेर मोहम्मद

सुकमा/जगदलपुर। सुकमा जिले के बुर्कापाल हमले के दौरान माओवादियों की प्लाटून नंबर-24 का कमांडर अनिल उर्फ देवा व चेरला एलओएस कमांडर रवि भी मारे गए थे। जिले के चिंतलनार, चिंतागुफा, बुर्कापाल, नरसापुरम, चिकपाल और सिरसेट्टी इलाके से बुर्कापाल हमले में शामिल होने के संदेह में 12 लोग हिरासत में लिए गए हैं। ये जानकारी एसपी अभिषेक मीना व सीआरपीएफ के डीआईजी एके सिंह ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में दी। इस जानकारी के सामने आने के बाद सीआरपीएफ के घायल जवान शेर मोहम्मद का घटना वाले दिन का बयान याद आता है कि उसने चार-पांच माओवादियों को गोली मारी है।





खुफिया तंत्र नाकाम : CRPF जवान की आप बीती-‘हम खाना खाने रुके थे और तभी…’

पुलिस अधीक्षक अभिषेक मीना ने बताया कि हिरासत में लिए गए संदिग्धों में से कुछ ने बुर्कापाल हमले में शामिल होने की बात कबूल की है। उन्होंने बताया कि शुरुआती पूछताछ में कुछ ने बताया कि वह बुर्कापाल हमले के दौरान जवानों पर देशी हथियार से गोलीबारी करने के अलावा शहीद जवानों से हथियार लूटने की घटना में शामिल रहे। कुछ ने माओवादियों के लिए खाना बनाने, रसद का इंतजाम करने की बात भी कबूल की है।

सुकमा में माओवादियों से मुठभेड़, सीआरपीएफ के 25 जवान शहीद

उन्होंने आगे बताया कि हिरासत में लिए गए लोगों में माओवादी और माओवादी सहयोगियों में कोई वांटेड नक्सली शामिल है या नहीं इसकी जानकारी उनके जिला मुख्यालय लाने के बाद ही की जा सकेगी। सभी 12 लोगों को जिले के अलग-अलग थाना क्षेत्र व कैंप से सर्चिंग के लिए निकली जवानों की टुकड़ी ने हिरासत में लिया है, इन्हें अभी स्थानीय थाने और कैंप में ही रखा गया है।

क्या सुकमा से भाग निकले हैं नक्सली?

दूसरी ओर सुकमा जिले में लगातार हमले के बाद अब माओवादियों ने अपने लिबरेटेड जोन को फ्री कर दिया है। सूचना तंत्र का मानना है कि माओवादी सीमांध्र और ओडिशा की ओर भाग चुके हैं। फोर्स इलाके की सर्चिंग में है, उनके हाथ एक भी नक्सली नहीं लगा है।

बुर्कापाल में हुई घटना के बाद माओवादियों के खिलाफ केन्द्र व राज्य सरकार ने मोर्चा खोल दिया है। अब माओवादियों ने महाराष्ट्र में अपनी मौजूदगी दर्शायी है। बारह घण्टे में माओवादियों ने दो विस्फोट कर 21 जवानों को घायल किया वहीं दो जवान शहीद हुए हैं।

माओवादियों ने चार वाहन फूंके

इधर माओवादियों के ओडिशा भागने की खबर उस समय सच निकली जब कोरापुट जिले के नारायण पाटना प्रखंड अंतर्गत मझिगुमांडी गांव में माओवादियों ने चार वाहनों को फूंक दिया। माओवादियों ने गांव में आकर ठेके पर सड़क का निर्माण का कार्य करने वाली कंपनी की दो जेसीबी मशीनों और ट्रैक्टरों को फूंक दिया है। इस घटना के बाद इलाके में दहशत है।

माओवादियों ने किया बारूदी सुरंग विस्फोट, होम गार्ड की मौत

विशाखापत्तनम

माओवादियों के बारूदी सुरंग विस्फोट के बाद का सीन

विशाखापत्तनम जिले के चिंतपल्ली मंडल परिधि के मेडिवाडा पंचायत क्षेत्र रामन्नापालेम के पास माओवादियों ने बारूदी सुरंग विस्फोट किया। इसमें एक होमगार्ड की घटनास्थल पर ही मौत हो गयी। इस घटना में पुलिस वाहन पूरी तरह से जल गया। पुलिस ने इलाके की घेराबंदी कर दी है। आगे की कार्रवाई की जा रही है।

Comments

Most Popular

To Top