CRPF

सुरक्षा बलों ने लश्कर आतंकी समेत दो को मार गिराया

कश्मीर में मुठभेड़

श्रीनगर। दक्षिणी कश्मीर के कुलगाम जिले के अरवनी गांव में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच जारी मुठभेड़ में जुनैद मट्टू समेत दो आतंकी ढेर हो गए। शुक्रवार सुबह सेना और पुलिस ने मट्टू समेत तीन आतंकियों को अरवनी गांव में घेर लिया था, अब तक चल रही मुठभेड़ में जुनैद समेत दो आतंकी मारे गए। दोनों ओर से गोलीबारी अब भी जारी है।





जुनैद मट्टू पिछले साल पुलिस वाहन पर दिन-दहाड़े हमले में शामिल था। इस हमले में तीन पुलिसकर्मियों की मौत हो गई थी। उस पर 10 लाख रूपये का इनाम था। कश्मीर के पुलिस महानिरीक्षक मुनीर खान कहा कि ‘आतंकवादियों ने पुलिस जवानों को डराने और धमकाने वाले के लिए वीडियोज बनाए लेकिन हमें ऐसी परिस्थितियों से निपटना आता है। हम फायरिंग का जवाब दे रहे हैं। दक्षिण कश्मीर में उत्तर कश्मीर के मुकाबले उग्रवादियों की मौजूदगी ज्यादा रहती है।’

इससे पहले सुबह CASO (घेरा डालो और ढूँढो) के तहत सीआरपीएफ (CRPF) की 90 बटालियन, एक राष्ट्रीय राइफल और जम्मू-कश्मीर पुलिस के स्पेशल आपरेशन ग्रुप (SOG) ने अरवानी गांव के ईदगाह मोहल्ला में एक बिल्डिंग को घेर लिया। खबर थी कि कम से कम तीन खतरनाक आतंकी छिपे हुए हैं। सुरक्षा बलों और आतंकियों के बीच गोलीबारी शुरू हो गई। सुरक्षा बलों को आतंकियों के खिलाफ आपरेशन में दिक्कत आ रही थी क्योंकि स्थानीय लोग और पत्थरबाज आतंकियों को बचाने के लिए पत्थरबाजी कर रहे थे। सुरक्षा बलों को आतंकियों की मौजूदगी की गुप्त सूचना मिली थी।

कश्मीर

लश्कर-ए-तैएबा का जिला कमांडर जुनैद मट्टू उर्फ़ कन्द्रू (जम्मू-कश्मीर पुलिस द्वारा जारी चित्र)

इस बीच, जैसे ही स्थानीय लोगों को मुठभेड़ की जानकारी मिली वैसे ही वह अपने घरों से निकल आतंकियों को बचाने के लिए सुरक्षाबलों पर पत्थरबाजी करने लगे। सुरक्षा बलों ने जिन तीन आतंकियों को घेर रखा था उनमें लश्कर-ए-तैएबा का जिला कमांडर जुनैद मट्टू उर्फ़ कन्द्रू शामिल था, जिसकी सुरक्षाबलों को काफी दिनों से तलाश थी। मट्टू 3 जून 2015 को लश्कर-ए-तैएबा में शामिल हुआ था। पुलिस रिकार्ड में वह ‘A’ कैटेगरी का आतंकी है।

वहीं गुरुवार को कुलगाम में आतंकियों ने एक पुलिसकर्मी की गोली मारकर हत्या कर दी। जम्मू-कश्मीर पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि पुलिसकर्मी शब्बीर अहमद डार उनके गाँव बोगुल्ड में घर के पास कई गोलियां मारी गईं। डार को अस्पताल ले जाया गया जहां उन्हें मृत घोषित कर दिया गया। शब्बीर जम्मू कश्मीर पुलिस के एसओजी से जुड़े हुए थे।

Comments

Most Popular

To Top