CRPF

पुलवामा आतंकी हमला: CRPF के एक जवान की इस मैसेज ने बचा ली जान

जवान थाका बेलकर
फाइल फोटो

नई दिल्ली। केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (CRPF) के जवान थाका बेलकर बटालियन की उस गाड़ी में अपने साथियों के साथ चुके थे जो काफिला के साथ जम्मू से श्रीनगर जा रही थी। इसी काफिले में उस गाड़ी पर पुलवामा के पास आतंकी हमला होता है और सशस्त्र बल के 40 जांबाज जवान शहीद हो जाते हैं। लेकिन जवान बेलकर की जान इसलिए बच जाती है कि गाड़ी में बैठने के बाद उनके मोबाइल पर एक मैसेज आता है। वो उसे पढ़ते हैं और पढ़कर गाड़ी से उतर जाते हैं।





मोबाइल पर मैसेज था- ‘आपकी छुट्टी मंजूर कर ली गई है।’

महाराष्ट्र के अहमदनगर के पारनेर गांव के निवासी जवान बेलकर ने अपनी शादी के लिए हेडक्वॉर्टर में छुट्टी के लिए आवेदन किया था लेकिन उनकी छुट्टी मंजूर नहीं हो पाई थी। उन्हें उसी वक्त बटालियन के साथियों के साथ जाने के लिए कहा गया। इस आदेश के बाद जवान थाका बेलकर साथियों के साथ कश्मीर जाने की तैयारियों में जुट गए।

जवान बेलकर गाड़ी में बैठ गए। मैसेज की रिंगटोन बजी। मैसेज पढ़ा। उनकी छुट्टी मंजूर हो चुकी थी। गाड़ी से उतरकर अपने कैंप में आए और गांव निकलने की तैयारी में लग गए। इस तरह जवान थाका बेलकर हादसे का शिकार होते- होते बच गए। वह गांव जाने के लिए वह निकल पड़े थे लेकिन रास्ते में कुछ घंटे बाद पता चला कि अपने साथियों के साथ जिस गाड़ी पर वह कश्मीर निकलने वाले थे उसपर आतंकी हमला हो गया है और भारी नुकसान हुआ है।

बेलकर अगली सुबह बेशक अहमदनगर अपने गांव पहुंच गए लेकिन उन्हें साथियों की मौत का गहरा सदमा है। एक निजी चैनल से बातचीत में उनके पिता ने बताया कि हमें बेटे के घर आने की खुशी से ज्यादा गम है मेरे 40 बेटों की जान जाने का। हम दुखी हैं। बेटे की शादी को लेकर अब कोई उत्साह नहीं है। शादी का माहौल होने के बावजूद हमारा मन खरीदारी करने के लिए नहीं हो पा रहा है।

Comments

Most Popular

To Top