CRPF

अब नक्सलियों की खैर नहीं, निपटाने में ऐसे मदद करेगा ‘वॉर रूम’

नक्सल विरोधी मुहिम में वॉर रूम काफी मददगार साबित होगा और देश-दुनिया के अलावा नक्सल प्रभावित राज्यों में क्या गतिविधियां चल रही हैं उसकी समय-समय पर जानकारी भी मिलती रहेगी।

बस्तर: आए दिन खून से धरती को लाल करने वाले नक्सलियों की अब खैर नहीं। दरअसल, छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित बस्तर के संभागीय मुख्यालय जगदलपुर के कॉर्डिनेशन सेंटर में अब देश के नक्सल प्रभावित राज्यों में नक्सलियों की गतिविधियों पर नजर रखने के लिए वॉर रूम तैयार किया गया है। इसका उद्घाटन राज्य के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह 26 जनवरी को करेंगे।





 

ये हैं खासियत:

  • नक्सलियों पर कार्रवाई के लिए तैयार किया गया प्रदेश में अपनी तरह का ये पहला वार रूम
  • वॉर रूम में देश के नक्सल प्रभावित इलाकों के मैप के अलावा देश-विदेश के मैप भी
  • वॉर रूम की मदद से दूसरे राज्यों में नक्सलियों की किसी भी तरह की हरकत पर नजर रखने में आसानी
  • बस्तर के अलावा पड़ोसी राज्यों में चलाए जाने वाले नक्सल ऑपरेशंस की भी पूरी जानकारी होगी
  • वॉर रूम में देश के टॉप मोस्ट नक्सली लीडरों का पूरा बायोडाटा मौजूद

  • बस्तर में चलाए जा रहे नक्सली ऑपरेशन में अब तक कितनी सफलताएं मिल चुकी हैं और कितने आत्मसमर्पित नक्सलियों को किस तरह की शासन स्तर पर सुविधाएं दी जा चुकी हैं, उसका भी पूरा लेखा-जोखा वॉर रूम में है

  • अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस वॉर रूम में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग हॉल, मीटिंग हॉल ऑपरेशन की रणनीति बनाने, डोजियर रूम, नक्सल प्रभावित इलाकों में ड्रोन के ऑपरेशन का कंट्रोल रूम भी इस वार रूम में बनाया गया
  • नक्सल विरोधी मुहिम में वॉर रूम काफी मददगार साबित होगा और देश-दुनिया के अलावा नक्सल प्रभावित राज्यों में क्या गतिविधियां चल रही हैं उसकी समय-समय पर जानकारी भी मिलती रहेगा

Comments

Most Popular

To Top