CRPF

छत्तीसगढ़ में होगी पांच नई बटालियन की तैनाती

रायपुर: छत्तीसगढ़ में माओवादी समस्या से निपटने के लिए केंद्रीय सुरक्षा बल की पांच नई बटालियन आएगी। विशेष सुरक्षा सलाहकार के. विजय कुमार ने बस्तर का दौरा करने के बाद इसका प्रस्ताव तैयार किया है। जमीनी स्तर पर इसका आकलन करने और जवानों की संख्या का जायजा लेने के बाद रिपोर्ट बनाई है। इस रिपोर्ट को गृह मंत्रालय को सौंप दिया गया है। इसकी स्वीकृति मिलने के बाद तैनात किए जाने वाले स्थल चिन्हित किए जाएंगे।





ऑपरेशन से जुड़े अधिकारियों के मुताबिक, केंद्रीय गृह विभाग से स्वीकृति मिलने के बाद इन्हें बस्तर के सुकमा, बीजापुर और दंतेवाड़ा के सर्वाधिक हिंसाग्रस्त क्षेत्रों में तैनात किया जाएगा। सुकमा में हुए हमले के बाद विशेष सुरक्षा सलाहकार ने बैठक बुलाई थी। सलाहकार ने अधिकारियों से यहां तैनात फोर्स की संख्या और अतिरिक्त बल को लेकर सुझाव मांगा था। अधिकारियों ने राज्य पुलिस द्वारा अपेक्षित सहयोग नहीं मिलने पर अकेले अभियान चलाने की जानकारी दी।

फिलहाल 45 हजार जवान तैनात

फिलहाल छत्तीसगढ़ के विभिन्न माओवादी प्रभावित क्षेत्रों में केंद्रीय सुरक्षा बल के 45 हजार जवान तैनात हैं। इसमें सबसे अधिक केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के 32 हजार जवान शामिल हैं। राज्य के सात जिलों में 10 हजार जवानों की तैनाती की गई है। लेकिन, माओवादियों की संख्या और क्षेत्रफल को देखते हुए इसे नाकाफी माना जा रहा है।

बीते 13 वर्ष में माओवादियों के साथ मुठभेड़ में 1500 से अधिक जवान शहीद और करीब 700 जवान घायल हुए हैं। लगातार निशाना बनाए जाने के बाद से अतिरिक्त फोर्स की मांग पिछले काफी समय से की जा रही है।

Comments

Most Popular

To Top