CRPF

CRPF ने गृह मंत्रालय को सौंपी सुकमा हमले की रिपोर्ट

शहीद-जवान

नई दिल्ली। छत्तीसगढ़ के सुकमा में 24 अप्रैल को सीआरपीएफ पर हुए नक्सली हमले पर सीआरपीएफ की हाई लेवल जांच कमेटी ने अपनी रिपोर्ट गृह मंत्रालय को सौंप दी है। इस रिपोर्ट में नक्सली हमले के लिए खुफिया इनपुट का ना होना बताया गया है। घटना के लिए छत्तीसगढ़ पुलिस और खुफिया एजेंसी (IB) को एक तरह से जिम्मेदार ठहराया गया है।





24 अप्रैल को हुआ था नक्सली हमला

रिपोर्ट के अनुसार, सीआरपीएफ को अगर नक्सलियों की मौजूदगी की खबर होती तो शायद इनती बड़ी घटना नहीं होती। 24 अप्रैल को छत्तीसगढ़ के सुकमा के बुरकापाल इलाके में नक्सलियों ने CRPF दस्ते पर घात लगाकर हमला किया था। इस घटना में सीआरपीएफ के 25 जवान शहीद हुए थे और आधा दर्जन से ज्यादा जवान बुरी तरह से जख्मी हो गए थे।

जिम्मेदार लोगों के खिलाफ कार्रवाई

छत्तीसगढ़ के गृहमंत्री ने कहा कि सीआरपीएफ पर हुए हमले की जांच रिपोर्ट अधिकृत तौर पर अभी राज्य शासन को प्राप्त नहीं हुई है, लेकिन इस रिपोर्ट के तथ्यों से वे अवगत हैं। उन्होंने कहा कि इस रिपोर्ट के आधार पर छत्तीसगढ़ पुलिस के अफसरों पर जिम्मेदारी तय होगी और उन के खिलाफ कार्रवाई भी होगी।

CRPF के 25 जवान हुए थे शहीद

बुरकापाल इलाके में 24 अप्रैस की दोपहर में सीआरपीएफ और नक्सलियों के बीच जमकर गोलीबारी हुई थी। नक्सलियों का दल CRPF पर हमले के लिए पूरी तरह से तैयार था और जैसे ही दल नक्सलियों के हद में आया उन्होंने उनपर गोलियां बरसानी शुरू कर दी। नक्सलियों ने स्थानीय ग्रामीणों को भी अपने इर्द-गिर्द इकट्ठा कर मानव शील्ड बनाई थी ताकि सीआरपीएफ उसपर जवाबी कार्रवाई ना कर सके। इस घटना में सीआरपीएफ को जान माल का जबरदस्त नुकसान उठाना पड़ा।…नक्सली जवानों के हथियार भी लूट ले गए।

खुफिया जानकारी की थी कमी

सीआरपीएफ ने ADGP स्तर के ऑफिसरों से घटना की जांच कराई। अब इस जांच रिपोर्ट को केंद्रीय गृह मंत्रालय को भेजा गया है। इस रिपोर्ट में इंटेलिजेंस में चूक को सबसे बड़ी वजह बताई गई है। पुलिस की ओर से CRPF को नक्सलियों के इतने बड़े जमावड़े और पहले से ही वहां उनके हलचल की कोई सूचना नहीं मिली। यही हाल खुफिया एजेंसी आईबी का रहा। उनके अफसरों ने भी कोई इनपुट मुहैया नहीं कराया। छत्तीसगढ़ के गृहमंत्री ने कहा है कि छत्तीसगढ़ सरकार को अभी इस रिपोर्ट का इंतजार है। रिपोर्ट मिलते ही वे अपने अधिकारियों की जवाबदेही तय करेंगे।

साभार: आजतक

Comments

Most Popular

To Top