CRPF

मौत को मात देकर एम्स से चीता पहुंचे घर, उठ खड़े हुए, रिजिजू ने कहा- चमत्कार…!

कमांडेंट चेतन चीता के साथ उनकी पत्नी उमा

नई दिल्ली: केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) की 45वीं बटालियन के कमांडेंट चेतन चीता ने मौत को मात दे दी है। उन्हें आज दिल्ली के एम्स अस्पताल से छुट्टी दे दी गई। वह नजफगढ़ स्थित अपने घर पहुंचे तो आरती उतारकर उनका स्वागत किया गया। वह एम्स में डेढ़ महीने से ज्यादा समय से भर्ती थे। अस्पताल के डॉक्टर अनुराग श्रीवास्तव ने आज चीता को डिस्चार्ज किए जाने की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि चीता की सेहत में सुधार की रफ्तार अच्छी है। उनके स्वास्थ्य की बहाली के लिए प्रयास जारी रहेगा। इस बीच सुबह चीता से मिलने गए केन्द्रीय गृह राज्यमंत्री किरेन रिजिजू ने उनसे बात की। रिजिजू ने मीडिया से बातचीत में खुशी जताते हुए इसे चमत्कार बताया। उन्होंने कहा कि चीता का संघर्ष दूसरे अधिकारियों का मनोबल बढ़ाएगा। उन्होंने एम्स के डाक्टरों का शुक्रिया अदा किया।





…जब शरीर पर 9 गोलियां झेलने वाला चीता बोला, आई एम रॉकिंग

डा. अनुराग के मुताबिक़ चीता लोगों से बात भी कर रहे और पहचान भी रहे हैं। एक गोली ने उनकी दाईं आँख को पूरी तरह क्षतिग्रस्त कर दिया है। यह आँख खराब हो गई है। दूसरी आँख बिल्कुल ठीक है। हालांकि गोली लगने के कारण चीता के शरीर के कुछ अंग पूरी तरह से काम नहीं कर पा रहे हैं। डाक्टर ने बताया कि यह चीता की इच्छाशक्ति का ही कमाल है कि वह आज ठीक हैं।

जानिए केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (CRPF) के बारे में

सीआरपीएफ ऑफिसर चेतन चीता दिल्ली के नजफगढ़ स्थित घर में रहते हैं। ऑफिसर चेतन के डिस्चार्ज होने की सूचना मिलते ही उनके आवास पर भीड़ लगनी शुरू हो गई। जैसा कि एम्स ने मंगलवार को साफ कर दिया था कि उनको बुधवार को डिस्चार्ज किया जा सकता है। यही वजह थी कि लोग यहां उनका सुबह से इंतजार कर रहे थे। चेतन चीता के घर पहुंचते ही उनके जानने वालों ने आरती की थाल लेकर आरती उतारी। चेतन चीता यहां लोगों के सहारे से खड़े नजर आये। बता दें कि 9 अप्रैल को सीआरपीएफ़ का शौर्य दिवस मनाया जाता है।

कमांडेंट चेतन चीता

कमांडेंट चेतन चीता एम्स से डिस्चार्ज किए जाने के बाद

इससे पहले घायल होने के बाद आज सुबह उनका चेहरा पहली बार सबके सामने आया। ताजा फोटो में वह बेहद कमजोर दिख रहे थे। उनकी पत्नी उमा सिंह की खुशी बता रही थी कि चीता अब ठीक हैं। वह उनके साथ खड़ी थीं।

कमांडेंट चेतन चीता

कमांडेंट चेतन चीता से मिले केन्द्रीय गृह राज्यमंत्री किरेन रिजिजू

 

कमांडेंट चेतन चीता

कमांडेंट चेतन चीता एम्स में हालचाल पूछते केन्द्रीय गृह राज्यमंत्री किरेन रिजिजू

इससे पूर्व केन्द्रीय गृह राज्यमंत्री किरेन रिजिजू सुबह चीता को देखने एम्स पहुंचे थे। रिजिजू ने कहा कि उन्होंने मुझसे बात की, इससे मैं बेहद गौरवान्वित महसूस कर रहा हूँ। रिजिजू ने यहां कहा कि आप बहुत जल्दी ठीक हो रहे हैं, यह चमत्कारिक है और मैं आपको जल्द से जल्द सीआरपीएफ की वर्दी में दोबारा देखना चाहता हूं।

चेतन चीता

चेतन चीता नजफगढ़ स्थित अपने घर पहुंचे तो आरती उतारकर उनका स्वागत किया गया।

कश्मीर में आतंकियों से लोहा लेते हुए बुरी तरह से घायल हुए चेतन चीता की जान बचाने के लिए वरिष्ठ डॉक्टरों की टीम पिछले कई दिनों से लगी हुई थी। भर्ती होने के बाद कई दिनों तक तो चेतन चीता की हालत में कोई बदलाव नहीं देखा जा रहा था, लेकिन धीरे-धीरे स्वास्थ्य में सुधार हुआ और वह खतरे से बाहर निकल आये। गोलियां लगने से चीता के शरीर में हुए इन्फेक्शन और दिमागी बुखार से बचाना डॉक्टरों के लिए किसी चुनौती से कम नहीं था। उनके शरीर में नौ गोलियां लगी थी जिसे डॉक्टरों ने ऑपरेशन के दौरान निकाला।

देश भर में चला था दुआओं का सिलसिला

चेतन चीता के स्वास्थ्य लाभ की कामना के लिए देश भर में दुआओं का दौर चला। कोई मंदिर में तो कोई मस्ज़िद में, हर धर्म के लोगों ने चीता की सकुशल ज़िन्दगी के लिए कामना की।

मुठभेड़ में हुए थे घायल

चेतन चीता उत्तर-कश्मीर के बांदीपुरा में आतंकियों के साथ 14 फरवरी को मुठभेड़ में नौ गोली लगने के बाद भी चेतन चीता ने आतंकियों का सामना किया और छलनी होने और आंख में गोली लगने के बावजूद 16 राउंड गोलियां चलाई और लश्कर के खतरनाक आतंकी कमांडर अबू हारिस को ढ़ेर कर दिया। चीता की आँख और सिर में भी गोली लगी थी। चीता की एक आंख खराब हो गई है।

चेतन चीता मूल रूप से राजस्थान के कोटा के रहने वाले हैं और उनके पिता रिटायर्ड आरएएस अफसर हैं। चेतन की पत्नी और दोनों बच्चे दिल्ली रहते हैं।

Comments

Most Popular

To Top