CRPF

CRPF के गुस्साए जवान ने गृह मंत्री को सुनाई खरी-खरी

नई दिल्ली: सुकमा में माओवादियों के साथ मुठभेड़ में सीआरपीएफ के 25 जवानों की शहादत के बाद सीआरपीएफ के ही एक जवान ने सोशल मीडिया के माध्यम से अपना गुस्सा जाहिर किया है। जवान का नाम पंकज मिश्रा है। उसने चार मिनट का एक वीडियो सोशल मीडिया पर डाला है, जिसमें उन्होंने गृहमंत्री राजनाथ सिंह को नाकाम नेता बताया, वहीं रक्षा विशेषज्ञों पर भी गुस्सा जाहिर किया है। साथ ही माओवादियों से निबटने के लिए क्या किया जाना चाहिए यह भी बताया है।





वीडियो में सीआरपीएफ जवान पंकज मिश्रा ने क्या-क्या कहा

जय हिंद! देशवासियों। मैं आप लोगों को बताना चाहूंगा कि सुकमा जिले में घटना एकाएक हुई। सुनने में आ रहा है कि हमारे डीजीपी साहब सुकमा जा रहे हैं मिलने के लिए। मैं उन लोगों को बताना चाहूंगा कि साहब! वहां मिलने से कुछ फायदा नहीं है… वहां जाइए और डॉयरेक्ट एक-दो बटालियन नहीं 20-25 बटालियन भेजिए और ऑपरेशन करवाइए। जिस तरह से उन तीन सौ नक्सलियों ने हमारा ऑपरेशन बर्बाद किया है उसी तरह से उनको पूरे सुकमा में छान बघारिए (ढूंढ निकालिए)।

गृहमंत्री राजनाथ सिंह पर गुस्सा जताया

वीडियो में उसने राजनाथ सिंह के लिए कहा कि राजनाथ सिंह जी! आप एक अच्छे नेता नहीं साबित हो पा रहे हैं। आप ही के राज में वहां (कश्मीर में) सीआरपीएफ लाठी खा रही है, आप ही के राज में सीआरपीएफ के जवान शहीद हो रहे हैं… और ये मैं बताना चाहूंगा कि आप और तमाम वीआईपी नेताओं को यही सीआरपीएफ के जवान X, Y, Z कैटेगरी की सिक्योरिटी दे रहे हैं।

मोदी को गलत जानकारी देते हैं

वीडियो में पंकज मिश्रा ने आगे कहा कि हमने राजनाथ जी आपको वोट नहीं दिया, हमने मोदी को वोट दिया है। आप जैसे लोग मोदी को सही बात नहीं बताते। रक्षा विशेषज्ञ टीवी पर आकर बहुत अच्छी-अच्छी बातें बोलते हैं कि उन्हें ये ट्रेनिंग नहीं दी गई, उन्हें वो ट्रेनिंग नहीं दी गई। अब मैं आप लोगों से पूछता हूं कि जब पाकिस्तानी हमारे जवानों के सर काट ले गए थे तब आप कहां थे? आपके पठानकोट एयरबेस पर जब हमला हुआ था तब आप कहां थे? इंटेलिजेंस आपकी कमी है तो हमारी भी कमी है। कमी कहां है इसकी जांच तो करवाओ।

रक्षा विशेषज्ञ, उच्च अधिकारियों को डिबेट में न बुलाये मीडिया

पंकज मिश्रा ने मीडिया से अनुरोध करते हुए वीडियो में कहा कि, मैं मीडियाकर्मियों, भाइयों से अनुरोध करता हूं कि उन्हें किसी रक्षा विशेषज्ञ या उच्च अधिकारी को शो में बुलाने की जरूरत नहीं है। आप सुकमा या छत्तीसगढ़ के किसी भी जिले में तैनात जवानों से पूछिए कि उनकी समस्या क्या है। वहां के जवान ही असली कमियों के बारे में आपको बता पाएंगे। सड़क बनवाने का सारा श्रेय लेती है छत्तीसगढ़ की सरकार और जवान शहीद हो जा रहे हैं।

राजनाथ जी अगर थोड़ी भी शर्म हो….

पंकज मिश्रा ने राजनाथ पर वीडियो में दोबारा हमला करते हुए कहा कि राजनाथ जी अगर आपको थोड़ी सी भी शर्म हो तो आप शहीदों को श्रद्धांजलि मत दीजिए। आप शहीद के घर में जाकर उसके परिवार से एक बार मिल लीजिए, आप वहां पर श्रद्धांजलि दीजिएगा तो आपको बहुत अच्छा लगेगा।

…समझिए जवानों के दर्द को

पंकज ने आगे कहा है कि प्यारे देशवाशियों आप लोग जवानों का दर्द समझिए। आज स्कूल खुलते ही कश्मीर में जितने भी छात्र थे सब सेना के जवानों पर हमला कर दिया। और सुकमा में कैजुअल्टी हो गई। जब कैजुअल्टी हो रही है तो हमारी हो रही है। सीआरपीएफ की हो रही है। बहुत ही दयनीय स्थिति है। मैं अपने जवान भाइयों को शख्त हिदायत दूंगा कि आज आप आवाज नहीं उठा रहे हो न इसी का परिणाम है। … और ये सोच रहे हो कि ये गया… वो गया… सब मरे हो, सब मरोगे एक दिन सब मरोगे… और फिर मत बोलना कि क्या कमी रह गई।

पंकज मिश्रा के बारे में

पंकज मिश्रा सीआरपीएफ की 221 बटालियन में बतौर कांस्टेबल (जीडी) तैनात हैं। उन्होंने वीर कुंवर सिंह विश्वविद्यालय, आरा (बिहार) से ग्रेजुएशन करने के बाद 2013 में सीआरपीएफ को ज्वाइन किया। उन्होंने अपने वीडियो के बारे में बताया कि अगर उनके खिलाफ कोई एक्शन लिया जाता है तो वह उसका सामना करने के लिए भी तैयार हैं।

Comments

Most Popular

To Top